Current Affairs of December 2019 (करंट अफेयर्स दिसंबर 2019)

Indian Affairs

सर्वोच्च न्यायालय ने नागरिकता संशोधन अधिनियम 2019 (Citizenship Amendment Act 2019) पर रोक लगाने से इनकार किया।

सर्वोच्च न्यायालय ने नागरिकता संशोधन अधिनियम (Citizenship Amendment Act 2019) पर रोक लगाने से इनकार कर दिया है। मुख्य न्यायधीश ने केंद्र सरकार को इस अधिनियम के बारे में लोगों को अवगत करवाने के लिए कहा है ताकि लोगों में किसी प्रकार का असमंजस न रहे। संसद द्वारा नागरिकता (संशोधन) विधेयक, 2019 के द्वारा नागरिकता अधिनियम, 1955 में संशोधन किया गया है। गौरतलब है कि इस विधेयक को भारत के उत्तर-पूर्वी राज्यों में काफी बड़ी संख्या में विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं। विरोध प्रदर्शन के चलते असम के कई इलाकों में कर्फ्यू लगाया गया है तथा कई स्थानों पर इन्टरनेट सेवा पर रोक लगाई गयी है।

प्रमुख बिंदु:

  • इस बिल के द्वारा बांग्लादेश, पाकिस्तान और अफ़ग़ानिस्तान के प्रताड़ित हिन्दू, जैन, सिख, इसाई, बौद्ध तथा पारसी नागरिकों को भारत की नागरिकता प्रदान की जाएगी।
  • यह बिल देश के सभी राज्यों तथा केंद्र शासित प्रदेशों पर लागू होगा, इस बिल के लाभार्थी व्यक्ति देश की किसी भी भाग में रह सकते हैं।
  • इस बिल के द्वारा उन लोगों को काफी राहत मिलेगी जो पड़ोसी देशों से आकर गुजरात, राजस्थान, दिल्ली मध्य प्रदेश इत्यादि राज्यों में रह रहे हैं।
  • नागरिकता अधिनियम, 1955 के अनुसार अवैध आप्रवासियों को या तो जेल में भेजा जा सकता है अथवा उन्हें उनके देश में वापस भेजा जा सकता है।

कैबिनेट ने राष्ट्रीय जनसँख्या रजिस्टर को अपडेट करने के लिए फंड को मंज़ूर किया।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में केन्द्रीय कैबिनेट ने भारत की 2021 की जनगणना के लिए 8,754.23 करोड़ रुपये के आबंटन को मंज़ूरी दी है। इसके साथ ही कैबिनेट ने राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर को अपडेट करने के लिए 3,941.35 करोड़ रुपये मंज़ूर किये हैं। यह दोनों कार्य एक साथ किये जायेंगे, यह कार्य अप्रैल, 2020 में शुरू होगा तथा सितम्बर, 2020 में समाप्त हो जायेगा।

राष्ट्रीय जनसँख्या रजिस्टर के बारे में:

  • राष्ट्रीय जनसँख्या रजिस्टर में देश के सभी निवासियों से सम्बंधित बायोमेट्रिक तथा जनसांख्यिकीय डाटा एकत्रित किया जाएगा। देश के प्रत्येक निवासी को राष्ट्रीय जनसँख्या रजिस्टर में पंजीकृत करवाना आवश्यक है।
  • इससे पहले 2010 तथा 2015 में राष्ट्रीय जनसँख्या रजिस्टर को अपडेट किया गया था। 2015 में राष्ट्रीय जनसँख्या रजिस्टर का डाटा घर-घर जाकर सर्वेक्षण के द्वारा एकत्रित किया गया था। इस बार असम को छोड़कर देश के सभी राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों में राष्ट्रीय जनसँख्या रजिस्टर का डाटा एकत्रित किया जाएगा।
  • राष्ट्रीय जनसँख्या रजिस्टर को राष्ट्रीय, राज्य, जिला, उप-जिला तथा स्थानीय स्तर पर तैयार किया जाएगा।

रेलवे में अब नई भर्तियाँ संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) की सिविल सेवा परीक्षा के माध्यम से की जायेगी।

रेलवे बोर्ड ने नई भर्तियाँ संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) की सिविल सेवा परीक्षा के माध्यम से करने का निर्णय लिया है। हाल ही में केन्द्रीय कैबिनेट ने रेलवे में आठ कैडर और विभाग का विलय Indian Railway Management Service (IRMS) में कर दिया था।

मुख्य बदलाव:

  • अब संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) के अभ्यर्थियों की तरह उम्मीदवारों को UPSC प्रीलिम्स परीक्षा में हिस्सा लेना होगा। इसके बाद उम्मीदवार को IRMS में पांच विशेषज्ञताओं में प्राथमिकता को चुनना होगा।
  • इसके अलावा अब से रेलवे बोर्ड के चेयरमैन भारतीय रेल सेवा का अधिकारी होगा, अन्य सेवाओं से रेलवे बोर्ड के चेयरमैन की नियुक्ति नहीं की जायेगी। भारतीय रेलवे के उस अधिकारी को चेयरमैन/सीईओ नियुक्त किया जाएगा जिसके पास 35 वर्ष का अनुभव है।

रेलवे बोर्ड संघटन के बारे में:

रेलवे बोर्ड में चेयरमैन के अलावा चार सदस्य होंगे, जो अधोसंरचना, परिचालन, वित्त इत्यादि के लिए ज़िम्मेदार होंगे। बोर्ड में कुछ एक स्वंतंत्र गैर-कार्यकारी सदस्य भी होंगे। वे वित्त, अर्थशास्त्र तथा प्रबंधन इत्यादि क्षेत्रों से होंगे जिनके पास कम से कम 30 वर्ष का प्रोफेशनल अनुभव होगा।

प्रधानमंत्री वय वंदना योजना (Pradhan Mantri Vaya Vandana Yojana) के लिए आधार को अनिवार्य किया गया।

केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री वय वंदना योजना (Pradhan Mantri Vaya Vandana Yojana) के लिए आधार को अनिवार्य कर दिया है। प्रधानमंत्री वय वंदना योजना वरिष्ठ नागरिकों के लिए एक पेंशन योजना है। अब इस योजना के लाभार्थियों को आधार नंबर का साक्ष्य देना होगा।

प्रमुख बिंदु:

केन्द्रीय वित्त मंत्रालय ने Aadhaar (Targeted Delivery of Financial and Other Subsidies, Benefits and Services) Act, 2016 के अधीन अधिसूचना जारी की है। इस अधिसूचना में कहा गया है कि यदि कोई व्यक्ति प्रधानमंत्री वय वंदना योजना का लाभ लेना चाहता है तो उसके पास आधार होना चाहिए।

प्रधानमंत्री वय वंदना योजना के बारे में:

यह 60 वर्ष या इससे अधिक के वरिष्ठ नागरिकों के लिए एक पेंशन योजना है। इस योजना के तहत 10 वर्ष तक 8% वार्षिक रिटर्न प्रदान की जाती है। इस योजना का क्रियान्वयन भारतीय जीवन बीमा निगम द्वारा किया जा रहा है। इस योजना की घोषणा 2017-18 के बजट में की गयी थी, बाद में 2018-19 के बजट में इसकी अधिकतम सीमा को दोगुना करके 15 लाख रुपये किया गया था।

प्रधानमंत्री ने “जल जीवन मिशन” के क्रियान्वयन के लिए दिशानिर्देश जारी किये।

25 दिसम्बर, 2019 को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने “जल जीवन मिशन” के क्रियान्वयन के लिए परिचालन सम्बन्धी दिशानिर्देश जारी किये। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने स्वतंत्रता दिवस 2019 के अवसर पर देश के सभी घरों को पाइप के द्वारा जल उपलब्ध करवाने के लिए “जल जीवन मिशन” की घोषणा की थी।

जल जीवन मिशन के बारे में:

  • देश के आधे घरों में पाइप के द्वारा जल उपलब्ध नही है, इसलिए अगले पांच वर्षों में देश के सभी घरों तक पाइप के द्वारा जल पहुंचाने के लिए काफी प्रयास की आवश्यकता है। इसके लिए केंद्र और राज्य मिलकर कार्य करेंगे।
  • गौरतलब है कि इस योजना पर 3.5 लाख करोड़ रुपये व्यय किये जायेंगे।
  • इस योजना में भूमिगत जल रिचार्ज, जल वर्ष संरक्षण, घरेलु उपयोग में इस्तेमाल किये गये जल का कृषि ने पुनः उपयोग करना भी शामिल है।
  • यह मिशन स्वच्छता मिशन की भाँती एक जन आन्दोलन है, जल संरक्षण के लिए सभी लोगों को प्रयास करने की आवश्यकता है।
  • सरकार ने 2024 तक देश के सभी घरों तक पाइप के द्वारा जल उपलब्ध करवाने का लक्ष्य रखा है, इसके लिए नए जल शक्ति मंत्रालय का गठन किया गया है।

केंद्र सरकार ने लांच किया Good Governance Index सुशासन सूचकांक।

25 दिसम्बर, 2019 को केंद्र सरकार ने सुशासन सूचकांक लांच किया, इस सूचकांक में तमिलनाडु को प्रथम स्थान प्राप्त हुआ है।

प्रमुख बिंदु:

  • इस सूचकांक में राज्य व केंद्र शासित प्रदेशों को तीन समूहों में बांटा गया है, बड़े राज्य, उत्तर-पूर्व तथा पहाड़ी राज्य तथा केंद्र शासित प्रदेश।
  • बड़े राज्यों की श्रेणी में तमिलनाडु को प्रथम स्थान प्राप्त हुआ है। इसके बाद महाराष्ट्र, कर्नाटक, छत्तीसगढ़ और आंध्र प्रदेश का स्थान है। इसमें ओडिशा, बिहार, गोवा और उत्तर प्रदेश ख़राब प्रदर्शन वाले राज्यों की सूची में है। इस सूची में अंतिम स्थान पर झारखण्ड है।
  • उत्तर-पूर्व तथा पहाड़ी राज्यों की श्रेणी में हिमाचल प्रदेश को पहला स्थान मिला है। हिमाचल के बाद उत्तराखंड, त्रिपुरा, मिजोरम और सिक्किम का स्थान है। इसमें जम्मू-कश्मीर, मणिपुर, नागालैंड और अरुणाचल प्रदेश ख़राब प्रदर्शन वाले राज्यों की सूची में है।

GK & Current Affairs Quiz 2020 in English & Hindi


Want to check your GK Score, then this App is for you!

More than 5000+ detailed question and answers

Latest Current Affairs - Download Now!

International Affairs

भारत-जापान के बीच समुद्री वार्ता के 5वें दौर का आयोजन किया गया।

26 दिसम्बर, 2019 को भारत और जापान के बीच समुद्री मामलों की वार्ता के पांचवें दौर का आयोजन टोक्यो में किया गया। इस वार्ता के दौरान दोनों देशों ने समुद्री सहयोग को और मज़बूत करने पर सहमती प्रकट की।

भारत-जापान रक्षा सम्बन्ध के बारे में:

  • भारत-जापान समुद्री वार्ता के पहले दौर का आयोजन नई दिल्ली में 2013 में किया गया था।
  • भारत और जापान JIMEX (Japan-India Maritime Exercise) नामक वार्षिक अभ्यास में हिस्सा लेते हैं।
  • भारत और जापान के लिए समुद्री सुरक्षा का महत्व अत्याधिक है, आर्थिक दृष्टि से दोनों देश समुद्री व्यापार पर निर्भर है। इसलिए समुद्री व्यापार की सुरक्षा के लिए मिलकर कार्य करना आवश्यक है।

40 वर्षों के बाद मेनुअल मारेरो क्रूज़ बने क्यूबा के प्रथम प्रधानमंत्री।

क्यूबा के राष्ट्रपति मिगुएल डिआज़-कानेल ने 40 वर्षों में क्यूबा के प्रथम प्रधानमंत्री की नियुक्ति की है, मेनुअल मारेरो क्रूज़ चार दशक में क्यूबा के प्रथम प्रधानमंत्री बने हैं। उनका कार्यकाल पांच वर्ष का होगा। इससे पहले उन्होंने 16 वर्ष तक क्यूबा के पर्यटन मंत्री के रूप में कार्य किया है। वे पेशे से एक वास्तुकार हैं।

पृष्ठभूमि:

  • क्यूबा के अंतिम प्रधानमंत्री फिदेल कास्त्रो ने 1976 में प्रधानमंत्री का पद समाप्त किया था, उसके बाद फिदेल कास्त्रो दिसम्बर, 1976 में स्टेट कौंसिल के प्रेसिडेंट बन गये थे। 1976 के बाद मेनुअल मारेरो क्रूज़ क्यूबा के प्रथम प्रधानमंत्री हैं।
  • फरवरी, 2019 में क्यूबा ने मतदाताओं ने नए संविधान को मंज़ूरी दी, इस नए संविधान ने 1976 के सोवियत कालीन चार्टर का स्थान लिया है। इस नए संविधान में प्रधानमंत्री के पद की व्यवस्था की गयी है। नए संविधान के तहत क्यूबा के केवल कम्युनिस्ट पार्टी ही एक मात्र राजनीतिक दल है।

भारत, ईरान और अफ़ग़ानिस्तान ने चाबहार बंदरगाह पर नई दिल्ली में चर्चा की।

भारत, ईरान और अफ़ग़ानिस्तान ने 20 दिसम्बर को चाबहार बंदरगाह पर नई दिल्ली में चर्चा की। चाबहार बंदरगाह भारत, अफ़ग़ानिस्तान और ईरान के बीच मधुर संबंधों का परिचायक है। इससे तीनों देशों के आर्थिक विकास को भी बढ़ावा मिलेगा। चाबहार बंदरगाह से भारत को अफ़ग़ानिस्तान से व्यापार करने के लिए सरल मार्ग मिलेगा। भारत ने चाबहार बंदरगाह के विकास के लिए काफी निवेश किया है।

चाबहार बंदरगाह के बारे में:

  • चाबहार बंदरगाह ईरान के दक्षिणी तट पर स्थित है, यह बंदरगाह सामरिक रूप से काफी महत्वपूर्ण है।
  • यह बंदरगाह चीन द्वारा पाकिस्तान में निर्मित ग्वादर बंदरगाह से केवल 100 नॉटिकल मील दूर स्थित है।
  • भारत ने सर्वप्रथम 2003 में चाबहार बंदरगाह के विकास का प्रस्ताव रखा था।
  • अफ़ग़ानिस्तान तथा मध्य एशिया तक पहुँच बनाने के लिए यह बंदरगाह भारतीय के लिए ‘सुनहरा द्वार’ है।
  • फरवरी, 2018 चाबहार के पहले चरण (शाहिद बेहेश्ती) के क्रियान्वयन के लिए समझौते पर हस्ताक्षर किये गये थे।
  • इस समझौते के तहत इंडिया पोर्ट्स ग्लोबल लिमिटेड नामक भारतीय कंपनी चाबहार बंदरगाह का अंतरिम प्रभार अपने हाथ में लेगी।

देशद्रोह के आरोप में परवेज़ मुशर्रफ को मृत्युदंड की सजा सुनाई गयी।

पाकिस्तान के एक विशेष न्यायालय ने पूर्व राष्ट्रपति परवेज़ मुशर्रफ मृत्युदंड की सजा सुनाई है। मुशर्रफ ने 2007 में संविधान को निलंबित करके पाकिस्तान में आपातकाल लागू किया था, यह एक दंडनीय अपराध है। गौरतलब है कि परवेज़ मुशर्रफ 2016 से दुबई में रह रहे हैं।

परवेज़ मुशर्रफ़ के बारे में:

  • परवेज़ मुशर्रफ का जन्म 11 अगस्त, 1943 को हुआ था। उनका जन्म ब्रिटिश राज के दौरान दिल्ली में हुआ था।
  • वे पाकिस्तानी सेना के सेवानिवृत्त जनरल हैं।
  • वे पाकिस्तान के 10वें राष्ट्रपति रहे हैं। वे 20 जून, 2001 से 18 अगस्त, 2008 तक पाकिस्तान के राष्ट्रपति रहे।
  • इससे पहले 12 अक्टूबर, 1999 से 21 नवम्बर, 2002 के दौरान वे पाकिस्तान के चीफ एग्जीक्यूटिव रहे।
  • गौरतलब है कि कारगिल में घुसपैठ उनकी सरपरस्ती में हुई थी, जिसके बाद 1999 में कारगिल की लड़ाई हुई।

Business and Economy

सरकारी उर्जा कंपनी NTPC सौर उर्जा (Solar Energy) में 50,000 करोड़ रुपये का निवेश करेगी।

सरकारी उर्जा कंपनी NTPC 2022 तक 10 गीगावाट सौर उर्जा (Solar Energy) उत्पादन के लिए 50,000 करोड़ रुपये का निवेश का निवेश करेगी। इसकी अधिकतर फंडिंग ग्रीन बांड्स के द्वारा की जायेगी। भारत ने 2020 तक 175 गीगावाट स्वच्छ उर्जा उत्पादन का लक्ष्य रखा है।

प्रमुख बिंदु:

  • इस परियोजना के लिए NTPC ग्रीन बांड्स पर निर्भर है, ग्रीन बांड्स का उपयोग स्वच्छ उर्जा परियोजनाओं के लिए किया जाता है।
  • वर्तमान में NTPC 920 मेगावाट नवीकरणीय उर्जा क्षमता स्थापित कर चुकी है।
  • NTPC ने 2032 तक 130 गीगावाट नवीकरणीय उर्जा क्षमता स्थापित करने का लक्ष्य रखा है।

NTPC के बारे में:

NTPC को पहले नेशनल थर्मल पॉवर कारपोरेशन लिमिटेड के नाम से जाना जाता था। यह सार्वजनिक क्षेत्र की इकाई है, यह कंपनी विद्युत् उत्पादन तथा इससे सम्बंधित कार्य करती है। इसकी स्थापना 1975 में की गयी थी।

फिच रेटिंग्स (Fitch Ratings) ने भारत के वित्त वर्ष 2019-20 के लिए भारत की विकास दर के अनुमान को 4.6% किया।

फिच रेटिंग्स (Fitch Ratings) ने भारत के वित्त वर्ष 2019-20 के लिए भारत की सकल घरेलु उत्पादन दर के अनुमान को 4.4% कर दिया है। फिच रेटिंग्स ने वित्त वर्ष 2020-21 में विकास दर 5.6% रहने का अनुमान लगाया है।

प्रमुख बिंदु:

मौजूदा वित्त वर्ष के लिए सितम्बर में फिच रेटिंग्स ने जीडीपी की विकास दर 7.8% रहने के अनुमान लगाया था, अब फिच ने अपने अनुमान को संशोधित किया है। पहले अप्रैल-जून की अवधि के लिए जीडीपी दर का अनुमान 7.7% था।

फिच रेटिंग्स के बारे में:

  • फिच रेटिंग्स विश्व की तीन सबसे बड़ी रेटिंग एजेंसियों में से एक है, अन्य दो प्रमुख एजेंसियां मूड़ीज़ (Moody's) और स्टैण्डर्ड एंड पूअर्स (Standard and Poor's) हैं।
  • इसका मुख्यालय अमेरिका के न्यूयॉर्क में स्थित है।
  • इसका पूर्व स्वामित्व हेअर्स्ट कारपोरेशन के पास है।
  • क्रेडिट रेटिंग एजेंसी एक किस्म की कंपनी होती है जो क्रेडिट रेटिंग प्रदान करती है। यह ऋणी द्वारा समय पर ऋण के भुगतान अथवा डिफ़ॉल्ट की सम्भावना की योग्यता का अनुमान लगाती है।

भारत का विदेशी मुद्रा भंडार (Foreign Exchange Reserves) 454.492 अरब डॉलर के सर्वोच्च स्तर पर पहुंचा।

13 दिसम्बर को समाप्त हुए सप्ताह के दौरान भारत का विदेशी मुद्रा भंडार (Foreign Exchange Reserves) 1.07 अरब डॉलर की वृद्धि के साथ अपने सर्वोच्च स्तर 454.492 अरब डॉलर तक पहुँच गया है। विश्व में सर्वाधिक विदेशी मुद्रा भंडार वाले देशों की सूची में भारत 8वें स्थान पर है, इस सूची में चीन पहले स्थान पर है।

विदेशी मुद्रा भंडार के बारे में:

  • विदेशी मुद्रा भंडार: इसे फोरेक्स रिज़र्व या आरक्षित निधियों का भंडार भी कहा जाता है।
  • भुगतान संतुलन में विदेशी मुद्रा भंडारों को आरक्षित परिसंपत्तियाँ’ कहा जाता है तथा ये पूंजी खाते में होते हैं। ये किसी देश की अंतर्राष्ट्रीय निवेश स्थिति का एक महत्त्वपूर्ण भाग हैं।
  • इसमें केवल विदेशी रुपये, विदेशी बैंकों की जमाओं, विदेशी ट्रेज़री बिल और अल्पकालिक अथवा दीर्घकालिक सरकारी परिसंपत्तियों को शामिल किया जाना चाहिये परन्तु इसमें विशेष आहरण अधिकारों , सोने के भंडारों और अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष की भंडार
  • अवस्थितियों को शामिल किया जाता है। इसे आधिकारिक अंतर्राष्ट्रीय भंडार अथवा अंतर्राष्ट्रीय भंडार की संज्ञा देना अधिक उचित है।

13 दिसम्बर, 2019 को Foreign Exchange Reserves:

  • विदेशी मुद्रा संपत्ति (FCA): $422.422 बिलियन
  • गोल्ड रिजर्व: $ 26.968 बिलियन
  • IMF के साथ SDR: $ 1.444 बिलियन
  • IMF के साथ रिजर्व की स्थिति: $ 3.658 बिलियन

HDFC बैंक बनी $100 अरब के Market Cap का आंकड़ा पार करने वाली तीसरी भारतीय कंपनी।

हाल ही में HDFC बैंक का मार्किट कैपिटलाइजेशन 100 अरब डॉलर के पार पहुंचा, इसके साथ ही HDFC 100 अरब डॉलर के आंकड़े को पार करने वाली तीसरी भारतीय कंपनी बनी। इससे पहले रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड और टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज ने भी 100 अरब डॉलर मार्केट कैपिटलाइजेशन का आंकड़ा पार किया है।

मार्केट कैप (Market Cap):

मार्केट कैप कंपनी का वह मूल्य है जिसका व्यापार स्टॉक मार्केट में किया जाता है। मार्केट कैप की गणना कुल शेयर की संख्या को शेयर की वर्तमान कीमत से गुणा करके की जाती है।

HDFC बैंक के बारे में:

  • HDFC बैंक भारत के सबसे बड़े निजी बैंकों में से एक है।
  • इसकी स्थापना 1994 में की गयी थी, इसमें एक लाख से अधिक कर्मचारी कार्य करते हैं।
  • इसका मुख्यालय महाराष्ट्र के मुंबई में स्थित है।

एशियाई विकास बैंक (Asian Development Bank) ने भारत को उर्जा दक्षता निवेश में विस्तार के लिए $250 मिलियन का ऋण जारी किया।

एशियाई विकास बैंक (Asian Development Bank) ने भारत सरकार के साथ सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी एनर्जी एफिशिएंसी सर्विसेज लिमिटेड (EESL) को ऋण प्रदान करने के लिए 250 मिलियन डॉलर के ऋण की घोषणा की है। इससे पहले 2016 में एशियाई विकास बैंक ने EESL के लिए 200 मिलियन डॉलर के ऋण को मंज़ूरी दी थी।

Energy Efficiency Services Limited (EESL) के बारे में:

  • EESL की स्थापना केन्द्रीय उर्जा मंत्रालय के अंतर्गत उर्जा दक्षता प्रोजेक्ट्स के लिए क्रियान्वयन में सहायता के लिए की गयी थी।
  • यह NTPC, पॉवर फाइनेंस कारपोरेशन (PFC), ग्रामीण विद्युतीकरण कारपोरेशन (REC) और पॉवरग्रिड का संयुक्त उद्यम है।
  • यह राष्ट्रीय उर्जा दक्षता मिशन (NMEEE) के बाज़ार सम्बन्धी कार्य भी करता है।

एशियाई विकास बैंक (Asian Development Bank) के बारे में:

  • ADB एक क्षेत्रीय विकास बैंक है जिसका उद्देश्य एशिया में सामाजिक और आर्थिक विकास को बढ़ावा देने के लिए ऋण, तकनीकी सहायता, अनुदान और इक्विटी निवेश प्रदान करके अपने सदस्यों और भागीदारों की सहायता करना है।
  • इसके कुल 67 सदस्य हैं, जिनमें से 48 एशिया और प्रशांत क्षेत्र जबकि बाकी 19 अन्य क्षेत्र के हैं।
  • ADB की स्थापना दिसंबर 1966 में की गयी थी। ADB का मुख्यालय मनीला (फिलीपींस) में स्थित है।

नीरव मोदी को भगौड़ा आर्थिक अपराधी घोषित किया गया।

मुंबई के विशेष न्यायालय ने नीरव मोदी को भगौड़ा आर्थिक अपराधी घोषित कर दिया है। इस प्रकार नीरव मोदी नए भगौड़ा आर्थिक अपराधी अधिनियम, 2018 के तहत दोषी घोषित किये जाने वाले दूसरे बिज़नेसमैन बने, उनसे पहले विजय माल्या को आर्थिक अपराधी घोषित किया गया है। नीरव मोदी पर 14,000 करोड़ रुपये के घोटाले का आरोप है।

प्रमुख बिंदु:

नीरव मोदी को निम्नलिखित प्रावधानों के तहत भगौड़ा आर्थिक अपराधी घोषित किया गया है:
  • भगौड़ा आर्थिक अपराधी अधिनियम, 2018 के अनुसार भगौड़ा आर्थिक अपराधी वह व्यक्ति है जिस पर 100 करोड़ रुपये से अधिक की राशि के आर्थिक अपराध के मामले में गिरफ्तारी वारंट जारी किया गया है और वह कारवाई से बचने के लिए देश को छोड़कर चला जाता है।
  • इसके लिए जांच एजेंसियों को धन शोधन रोकथाम अधिनियम, 2002 के तहत विशेष न्यायालय में एप्लीकेशन फाइल करनी होगी, इस एप्लीकेशन में आरोपी की संपत्ति तथा उसकी वर्तमान स्थिति का ब्यौरा भी देना होगा।

Appointments and Resigns

संगीता रेड्डी बनीं फिक्की (FICCI) की अध्यक्ष।

अपोलो हॉस्पिटल्स ग्रुप की जॉइंट मैनेजिंग डायरेक्टर संगीता रेड्डी फिक्की (FICCI) की अध्यक्ष बन गयी हैं। उन्होंने संदीप सोमानी का स्थान लिया है। स्टार और डिज्नी इंडिया के चेयरमैन उदय शंकर को वरिष्ठ उपाध्यक्ष नियुक्त किया गया है। जबकि हिंदुस्तान यूनिलीवर के सीएमडी संजीव मेहता को फिक्की का अध्यक्ष चुना गया है।

Federation of Indian Chambers of Commerce and Industry (FICCI) के बारे में:

  • FICCI भारत का सबसे बड़ा और सबसे पुराना व्यापारिक संगठन है, यह गैर-सरकारी व गैर लाभकारी संगठन है।
  • इसकी स्थापना 1927 में घनश्याम दास बिरला ने की थी, इसका मुख्यालय नई दिल्ली में स्थित है।
  • इसका उद्देश्य भारतीय उद्योग की कुशलता और प्रतिस्पर्धा में वृद्धि करना है।
  • इसके अतिरिक्त यह घरेलु व विदेशी मार्किट में व्यापारिक अवसरों के विस्तार करने के कार्य करता है।

मासात्सुगु असाकावा होंगे एशियाई विकास बैंक (Asian Development Bank) के नये अध्यक्ष।

मासात्सुगु असाकावा को एशियाई विकास बैंक (Asian Development Bank) का नया अध्यक्ष नियुक्त किया गया है, वे ताकेहिको नाकाओ का स्थान लेंगे। मासात्सुगु असाकावा 17 जनवरी, 2020 को कार्यभार संभालेंगे, वे ADB के 10 वें अध्यक्ष होंगे। इससे पहले एशियाई विकास बैंक के अध्यक्ष ताकेहिको नाकाओ ने इस्तीफे की घोषणा की थी। उनका यह इस्तीफ़ा 16 जनवरी, 2020 से लागू होगा। वे 28 अप्रैल, 2013 को एशियाई विकास बैंक के अध्यक्ष बने थे।

ताकेहिको नाकाओ के बारे में:

  • ताकेहिको नाकाओ एक जापानी सिविल सर्वेंट हैं, उनका जन्म मार्च, 1956 में हुआ था।
  • उन्होंने टोक्यो विश्वविद्यालय से अर्थशास्त्र में डिग्री हासिल की।
  • उन्होंने यूनिवर्सिटी ऑफ़ कैलिफ़ोर्निया, बर्कले से MBA की डिग्री प्राप्त की है।
  • वे 2013 से अब तक एशियाई विकास के नौवें अध्यक्ष बने हुए हैं।

Awards & Recognitions

8 वर्षीय रायन काजी बने यूट्यूब से सबसे ज्यादा कमाई करने वाले यूट्यूबर।

फोर्ब्स पत्रिका के अनुसार 8 वर्षीय रयान काजी यूट्यूब से सबसे ज्यादा कमाई करने वाले यूट्यूबर हैं।
  • रायन काजी ने 2015 ने यूट्यूब चैनल शुरू किया था।
  • वे अपने चैनल पर खिलौने के रिव्यु करते हैं।
  • 2019 में रायन काजी की कुल कमाई 26 मिलियन डॉलर रही।
  • इस सूची में दूसरे स्थान पर “डूड परफेक्ट” नामक चैनल रहा।

अमिताभ बागची ने जीता दक्षिण एशियाई साहित्य में DSC पुरस्कार।

अमिताभ बागची ने दक्षिण एशियाई साहित्य में DSC पुरस्कार 2019 जीता है। उन्हें यह पुरस्कार उनके उपन्यास ‘हाफ द नाईट इज़ गॉन’ के लिए प्रदान किया गया है।
  • इस पुरस्कार की घोषणा नेपाल में IME Nepal Literature Festival में की गयी।
  • अमिताभ बागची को यह पुरस्कार नेपाल के विदेश मंत्री प्रदीप ग्यावली द्वारा प्रदान किया गया।
  • गौरतलब है कि इस बार इस पुरस्कार के लिए 90 प्रविष्ठियां प्राप्त हुई थीं।

दक्षिण एशियाई साहित्य के लिए DSC पुरस्कार के बारे में:

  • इस पुरस्कार की स्थापना सूरीना नरूला तथा मनहद नरूला ने 2010 में की थी। यह पुरस्कार दक्षिण एशियाई काल्पनिक लेखन में सर्वश्रेष्ठ कार्य के लिए दिया जाता है।
  • यह पुरस्कार अंग्रेजी में लिखे गये अथवा अनुदित उपन्यास के लिए दिया जाता है।

World's Most Powerful Women की सूची में शामिल हुई निर्मला सीतारमण।

हाल ही में अमेरिकी की फोर्ब्स पत्रिका ने विश्व की सबसे शक्तिशाली महिलाओं (World's Most Powerful Women) की सूची जारी की, इस सूची में भारत की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण को 34वां स्थान प्राप्त हुआ है। इस सूची में ग्रेटा थनबर्ग 100वें स्थान पर हैं।

निर्मला सीतारमण के बारे में:

  • निर्मला सीतारमण का जन्म 18 अगस्त, 1959 को तमिलनाडु के मदुरै में हुआ था। उनके पिताजी भारतीय रेलवे में एक कर्मचारी थे।
  • निर्मला सीतारमण ने अपनी स्कूली पढ़ाई मद्रास और तिरुचिरापल्ली से पूरी की। उन्होंने सीतालक्ष्मी रामास्वामी कॉलेज, तिरुचिरापल्ली से अर्थशास्त्र में बैचलर ऑफ़ आर्ट्स की डिग्री प्राप्त की।
  • इसके बाद उन्होंने जवाहरलाल नेहरु विश्वविद्यालय से अर्थशात्र में मास्टर्स इन आर्ट्स तथा M.Phil की। वे PhD के लिए एनरोल हुई थीं, परन्तु वे पारिवारिक कारणों की वजह से इसे पूरा नहीं कर सकीं।
  • निर्मला सीतारमण 2008 में भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुई थीं, उन्होंने पार्टी के प्रवक्ता के रूप में कार्य किया।
  • 2014 में उन्हें प्रधानमंत्री मोदी की प्रथम सरकार में मंत्री चुना गया था।
  • 3 सितम्बर, 2017 को उन्हें देश रक्षामंत्री नियुक्त किया गया था।

विश्व की 5 सबसे शक्तिशाली महिलाएं:

  1. एंजेला मर्कल (जर्मनी)
  2. क्रिस्टीन लेगार्ड (फ्रांस)
  3. नैंसी पेलोसी (अमेरिका)
  4. उर्सुला वान डेर लेन (बेल्जियम)
  5. मेरी बारा (अमेरिका)

ग्रेटा थनबर्ग (Greta Thunberg) बनीं टाइम पर्सन ऑफ़ द ईयर।

स्वीडन की ग्रेटा थनबर्ग (Greta Thunberg) को टाइम पर्सन ऑफ़ द ईयर 2019 (TIME Person of the Year 2019) चुना गया है। वे पर्यावरण संरक्षण के लिए कार्य करती हैं।

ग्रेटा थनबर्ग (Greta Thunberg) के बारे में:

  • ग्रेटा थनबर्ग का जन्म 3 जनवरी, 2003 को स्वीडन में हुआ था।
  • स्वीडन की 16 वर्षीय ग्रेटा थनबर्ग पर्यावरण की सुरक्षा के लिए कार्य करती हैं। ग्रेटा स्कूल स्ट्राइक फॉर क्लाइमेट मूवमेंट की संस्थापक हैं।
  • इस आन्दोलन की शुरुआत पिछले वर्ष हुई थी, जब ग्रेटा ने स्वीडिश संसद के बाहर अकेले विरोध प्रदर्शन किया था।
  • उन्होंने जलवायु परिवर्तन पर कार्य करने के लिए छात्रों को विरोध प्रदर्शन में शामिल होने के लिए प्रेरित किया।
  • उन्होंने स्वीडन की संसद के समक्ष पेरिस समझौते के मुताबिक कार्बन उत्सर्जन को कम करने के लिए विरोध प्रदर्शन किया था। इसके लिए उन्होंने स्कूल न जा कर संसद के बाहर प्रदर्शन किया।
  • उन्होंने विश्व के अन्य देशों में छात्रों को प्रेरित किया। दिसम्बर, 2018 तक विश्व के 270 शहरों में 20,000 में स्कूलों में हड़ताल की।

Science and Technology

CSIR वैश्विक बाज़ार के लिए नई दवाएं विकसित करेगा।

वैज्ञानिक व औद्योगिक अनुसन्धान परिषद् (CSIR) तथा केन्द्रीय औषधि अनुसन्धान संस्थान (CDRI) ने नई दवाओं के विकास तथा भारतीय व वैश्विक बाज़ार के लिए दवाओं की री-पर्पजिंग के लिए समझौते पर हस्ताक्षर किये हैं। इस कार्य में फार्मास्यूटिकल कंपनी सिप्ला को भी शामिल किया गया है।

ड्रग री-पर्पजिंग क्या है?

अनुसंधानात्मक दवाओं तथा पहले से मान्यता प्राप्त दवाओं के उपयोग खोजना ड्रग री-पर्पजिंग कहलाता है। इसका द्वारा सामान्य तथा दुर्लभ रोगों का उपचार किया जाता है। ड्रग री-पर्पजिंग से दवाओं की विकास लागत कम होती है तथा दवाओं के निर्माण में कम समय सकता है।

वैज्ञानिक व औद्योगिक अनुसन्धान परिषद् (CSIR) के बारे में:

  • यह देश की अग्रणी स्वायत्त अनुसन्धान व विकास संगठन है।
  • इसकी स्थापना 1942 में की गयी थी।
  • यह रजिस्ट्रेशन ऑफ़ सोसाइटीज एक्ट, 1960 के तहत पंजीकृत एक स्वायत्त संस्था है।
  • इसे मुख्य रूप से केन्द्रीय विज्ञान व तकनीक मंत्रालय द्वारा फंडिंग की जाती है।
  • प्रधानमंत्री CSIR के अध्यक्ष होते हैं।
  • इसका मुख्यालय नई दिल्ली में स्थित है।

दूरसंचार विभाग के अनुसार, जनवरी-मार्च, 2020 में शुरू होंगे 5G ट्रायल।

दूरसंचार विभाग के अनुसार जनवरी-मार्च, 2020 के दौरान 5G ट्रायल शुरू हो जायेंगे। 5G ट्रायल के लिए दूरसंचार विभाग के पास कुल 12 आवेदन आये हैं, विभाग न अभी तक न तो किसी आवेदन स्वीकृति दी है और न की किसी आवेदन को रद्द किया है। अभी तक सरकार ने हुवावे की भागीदारी पर भी अपना निर्णय स्पष्ट नहीं किया है।

5G स्पेक्ट्रम के बारे में:

मार्च-अप्रैल, 2020 तक 5G स्पेक्ट्रम की नीलामी की जा सकती है। भारत सरकार ने 8,293 मेगा हर्ट्ज़ वेव लेंथ्स की नीलामी की योजना बनाई है। इस नीलामी का बेस प्राइस 5.86 लाख करोड़ रुपये है। पिछली स्पेक्ट्रम बिक्री में 2016 में 4G स्पेट्रम की नीलामी की गयी थी।

स्पेक्ट्रम नीलामी के बारे में:

स्पेक्ट्रम नीलामी वह प्रक्रिया है जिसके द्वारा सरकार विशिष्ट बैंड पर इलेक्ट्रोमैग्नेटिक सिग्नल्स के ट्रांसमिशन के अधिकार बेचती है। 5G स्पेक्ट्रम के द्वारा 4G के मुकाबले तेज और बेहतर ब्रोड्बैंड सेवाएं मिलेंगी।

इसरो (ISRO) ने पिछले पांच वर्षों में दूसरे देशों के उपग्रहों को लांच करके कमाए 1,245 करोड़ रुपये।

भारतीय अन्तरिक्ष अनुसन्धान संगठन (इसरो) ने पिछले पांच वर्षों में दूसरे देशों के उपग्रहों को लांच करके कमाए 1,245 करोड़ रुपये हैं। पिछले पांच वर्षों में इसरो ने 26 अलग-अलग देशों के उपग्रह लांच किये हैं।

प्रमुख बिंदु:

  • वित्त वर्ष 2018-19 में ISRO ने अब अक विदेशी उपग्रहों को लांच करके 324.19 करोड़ रुपये की कमाई की है, इसमें पिछले वर्ष के मुकाबले 40% की वृद्धि हुई है।
  • 2017-18 में इसरो ने विदेशी उपग्रहों को लांच करके 232.56 करोड़ रुपये कमाए थे।
  • 2018-19 के दौरान इसरो ने भारत के विदेशी मुद्रा भंडार में 91.63 करोड़ रुपये की विवृद्धि की है।
  • 1999 से लेकर अब तक ISRO ने कुल 319 विदेशी उपग्रह लांच किये हैं।

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) के बारे में:

  • इसकी स्‍थापना 1969 में की गई।
  • 1972 में भारत सरकार द्वारा ‘अंतरिक्ष आयोग’ और ‘अंतरिक्ष विभाग’ के गठन से अंतरिक्ष शोध गतिविधियों को अतिरिक्‍त गति प्राप्‍त हुई।
  • 70 का दशक भारतीय अंतरिक्ष कार्यक्रम के इतिहास में प्रयोगात्‍मक युग था जिस दौरान ‘भास्‍कर’, ‘रोहिणी”आर्यभट’, तथा ‘एप्पल’ जैसे प्रयोगात्‍मक उपग्रह कार्यक्रम चलाए गए।
  • 80 का दशक संचालनात्‍मक युग बना जबकि ‘इन्सेट’ तथा ‘आईआरएस’ जैसे उपग्रह कार्यक्रम शुरू हुए।
  • आज इन्सेट तथा आईआरएस ISRO के प्रमुख कार्यक्रम हैं।
  • अंतरिक्ष यान के स्‍वदेश में ही प्रक्षेपण के लिए भारत का मज़बूत प्रक्षेपण यान कार्यक्रम है।

State News

प्रधानमंत्री ने लखनऊ में अटल बिहारी वाजपेयी मेडिकल यूनिवर्सिटी की आधारशिला रखी।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 25 दिसम्बर, 2019 लखनऊ में अटल बिहारी वाजपेयी मेडिकल यूनिवर्सिटी की आधारशिला रखी। इस मौके पर उत्तर प्रदेश के राज्यपाल आनंदीबेन पटेल तथा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मौजूद थे। इसका उद्देश्य राज्य में डॉक्टरों की कमी को दूर करना है तथा लोगों के लिए बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं सुनिश्चित करना है। अटल बिहारी वाजपेयी मेडिकल यूनिवर्सिटी का निर्माण 50 एकड़ भूमि पर किया जायेगा।

अटल बिहारी वाजपेयी के बारे में:

  • अटल बिहारी वाजपेयी का जन्म 25 दिसम्बर, 1924 को मध्य प्रदेश के ग्वालियर में हुआ था।
  • उन्होंने ग्वालियर के विक्टोरिया कॉलेज (अब लक्ष्मी बाई कॉलेज) से स्नातक की पढाई की। इसके बाद DAV कॉलेज कानपूर से उन्होंने राजनीतिक विज्ञान में M.A. की डिग्री प्राप्त की।
  • शुरू में आर्य समाज से जुड़े थे। 1939 में वे राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़े और प्रचारक बने।
  • अटल बिहारी वाजपेयी ने युवावस्था में ही स्वतंत्रता आन्दोलन में भाग लेने शुरू किया, भारत छोडो आन्दोलन में अटल बिहारी वाजपेयी को 23 दिनों के लिए कारागार में डाला गया था।
  • 1977 के आम चुनावों में जनता पार्टी की जीत के बाद अटल बिहारी वाजपेयी को मोरारजी देसाई के मंत्रीमंडल में विदेश मंत्री का पद दिया गया था।
  • विदेश मंत्री के रूप में उन्होंने संयुक्त राष्ट्र महासभा में हिंदी में भाषण दिया था, वे संयुक्त राष्ट्र महासभा में हिंदी में भाषण देने वाले पहले व्यक्ति थे।
  • 1980 में अटल बिहारी वाजपेयी, लाल कृष्ण आडवानी और भैरों सिंह शेखावत ने भारतीय जनता पार्टी के निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।
  • अटल बिहारी वाजपेयी तीन बार भारत के प्रधानमंत्री बने।
  • वे पहली बार 1996 में प्रधानमंत्री बने, हालांकि उनका कार्यकाल केवल 13 दिन का था।
  • दूसरी बार वे 1998 से 1999 के बीच 11 महीने के लिए प्रधानमंत्री बने।
  • 1999 से 2004 के बीच वे तीसरी बार प्रधानमंत्री बने, इस दौरान उन्होंने प्रधानमंत्री के रूप में अपना कार्यकाल पूरा किया।
  • इसके अलावा वे मोरारजी देसाई की कैबिनेट में विदेश मंत्री भी रहे।
  • अटल बिहारी वाजपेयी लगभग 4 दशक तक भारतीय संसद के सदस्य थे, वे 10 बार लोकसभा के सदस्य तथा 2 बार राज्यसभा के सदस्य चुने गये।
  • 2009 में उन्होंने स्वास्थ्य कारणों से सक्रीय राजनीती से सन्यास लिया।

रोहतांग सुरंग का नाम अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर रखा जाएगा।

कैबिनेट ने रोहतांग सुरंग का नाम देश के पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर रखने के लिए मंज़ूरी दे दी है। यह नया नाम 25 दिसम्बर (श्री अटल बिहारी वाजपेयी का जन्म दिवस) से लागू होगा।

रोहतांग सुरंग के बारे में:

  • श्री अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व में 3 जून, 2000 को रोहतांग सुरंग के निर्माण का निर्णय लिया गया है, यह सुरंग रणनीतिक रूप से काफी महत्वपूर्ण है।
  • यह सुरंग हिमाचल प्रदेश में स्थित है। इस सुरंग की कुल लम्बाई 8.8 किलोमीटर है।
  • यह सुरंग लगभग 3000 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है, यह इतनी ऊंचाई पर निर्मित सबसे लम्बी सुरंगों में से एक है।
  • गौरतलब है कि इस सुरंग के कारण मनाली और लेह के बीच की दूरी में 46 किलोमीटर की कमी आएगी।
  • यह सुरंग रणनीतिक दृष्टि से तो बेहद महत्वपूर्ण है परन्तु स्थानीय लोगों के लिए भी यह बेहद उपयोगी है।

Environment

COP25 में क्लाइमेट एम्बिशन अलायन्स में 73 देश शामिल हुए जिसमें भारत ने भी हिस्सा लिया।

हाल ही में COP25 में क्लाइमेट एम्बिशन अलायन्स में 73 देश शामिल हुए। इस अलायन्स का नेतृत्व चिली द्वारा किया जा रहा है, इस अलायन्स को 2019 में क्लाइमेट एक्शन समिट में लांच किया गया था। COP25 (कांफ्रेंस ऑफ़ पार्टीज) का आयोजन पहले चिली में किया जाना था, परन्तु चिली में जारी विरोध प्रदर्शन के कारण इस इवेंट को स्पेन में आयोजित किया गया। केन्द्रीय पर्यावरण मंत्री श्री प्रकाश जावड़ेकर ने मेड्रिड जलवायु सम्मेलन में भारत का प्रतिनिधित्व किया।

प्रमुख बिंदु:

  • इस सम्मेलन में सदस्य देशों को NDC (Nationally Determined Contributions) को अगले एक वर्ष में बढाने के लिए कहा गया है।
  • इसके अलावा महासागर पर “Special Report on the Ocean and Cryosphere in a Changing Climate” (SPROCC) नामक रिपोर्ट जारी की गयी है।
  • इस रिपोर्ट के अनुसार 1901-1990 के दौरान औसत समुद्र स्तर में 1.4 मिलीमीटर की वृद्धि हुई थी, जबकि 2006-2015 के दौरान इसमें 3.6 मिलीमीटर की वृद्धि हुई है।

COP25

स्पेन की राजधानी मेड्रिड में विश्व के वार्षिक जलवायु सम्मेलन ‘COP-25’ (कांफ्रेंस ऑफ़ पार्टीज) का आयोजन 2 से 13 दिसम्बर, 2019 के दौरान किया गया।

कांफ्रेंस ऑफ़ पार्टीज क्या है?

  • कांफ्रेंस ऑफ़ पार्टीज संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन फ्रेमवर्क कन्वेंशन (UNFCCC) की सर्वोच्च निर्णय निर्माता संस्था है।
  • पहली COP बैठक का आयोजन मार्च 1995 में जर्मनी के बर्लिन में किया गया था।
  • इस सम्मेलन में कन्वेंशन के क्रियान्वयन की समीक्षा की जाती है।
  • COP की अध्यक्षता बारी-बारी से पांच मान्यता प्राप्त क्षेत्रों (एशियाई, मध्य व पूर्वी यूरोप, अफ्रीका, लैटिन अमेरिका, कैरिबियन तथा पश्चिमी यूरोप इत्यादि) के द्वारा की जाती है।

Sports

विजडन पत्रिका ने, दशक के सर्वश्रेष्ठ क्रिकेटरों की सूची में विराट कोहली को शामिल किया।

हाल ही में विजडन पत्रिका ने दशक के सबसे बेहतरीन क्रिकेटरों की सूची जारी की, इस सूची में भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली को भी शामिल किया गया है।

प्रमुख बिंदु:

  • इस सूची में विराट कोहली के अलावा दक्षिण के डेल स्टेन, एबी डीविलियर्स, ऑस्ट्रेलिया के स्टीव स्मिथ तथा महिला खिलाड़ी एलिस पेरी को शामिल किया गया है।
  • विराट कोहली को विजडन टेस्ट टीम ऑफ़ द डिकेड का कप्तान चुना गया है, उन्हें एकदिवसीय टीम में भी शामिल किया गया है।
  • पिछले दशक में विराट कोहली ने टेस्ट मैचों में 7,202 रन बनाये, इसमें 27 शतक भी शामिल हैं।
  • जबकि एकदिवसीय क्रिकेट में उन्होंने 11,125 रन बनाये हैं।
  • पिछले एक दशक में अंतर्राष्ट्रीय टी-20 मैचों में कोहली ने 2,633 रन बनाये हैं।
  • सभी फॉर्मेट में विराट कोहली का औसत 50 से अधिक है।
  • उनके नाम 70 अंतर्राष्ट्रीय शतक हैं।
  • सबसे अधिक अंतर्राष्ट्रीय रनों के मामले में विराट कोहली सचिन तेंदुलकर और रिकी पोंटिंग के बाद तीसरे स्थान पर है।

लिवरपूल ने क्लब फ्लेमिंगो को हराकर फीफा क्लब विश्व कप का खिताब जीता।

लिवरपूल ने ब्राज़ील के क्लब फ्लेमिंगो को हराकर क्लब विश्व कप का खिताब जीता। इस मैच का एकमात्र गोल लिवरपूल के फिर्मिनो ने किया। पिछले वर्ष इस प्रतियोगिता को रियाल मेड्रिड ने जीता था।

लिवरपूल के बारे में:

  • लिवरपूल इंग्लैंड का एक फुटबॉल क्लब है, यह क्लब इंग्लैंड की विश्व प्रसिद्ध फुटबॉल लीग “प्रीमियर लीग” में हिस्सा लेता है।
  • लिवरपूल विश्व के सबसे बेहतरीन फुटबॉल क्लब्स में से एक माना जाता है।
  • लिवरपूल फुटबॉल क्लब की स्थापना 3 जून, 1892 को की गयी थी।
  • लिवरपूल अब तक 6 यूरोपीय कप, 3 UEFA कप, 3 UEFA सुपर कप, 18 लीग खिताब, 7 FA कप, 8 लीग कप तथा 1 फुटबॉल लीग सुपर कप जीत चुका है।
  • मौजूदा समय में लिवरपूल के लिए मोहम्मद सालाह, दिवोक ओरिगी, वर्जिल वान दिक, रोबेर्टो फर्मिनियो, शाकिरी, सादियो माने जैसे खिलाड़ी खेलते हैं।

फीफा क्लब विश्व कप के बारे में:

  • फीफा क्लब विश्व कप के पहली बार आयोजन 2000 में किया गया था।
  • रियाल मेड्रिड इस प्रतियोगिता को सर्वाधिक चार बार जीत चुकी है।
  • रियाल ने इस प्रतिस्पर्धा को 2014, 2016 तथा 2017 में भी जीता था।
  • 2005 से इस प्रतियोगिता का आयोजन प्रतिवर्ष किया जा रहा है। इसकी मेजबानी ब्राज़ील, जापान, संयुक्त अरब अमीरात और मोरक्को कर चुके हैं।

भारतीय भारतोलक, मीराबाई चानू ने क़तर इंटरनेशनल कप में भारतोलन में स्वर्ण पदक जीता।

भारतीय भारतोलक, मीराबाई चानू ने क़तर इंटरनेशनल कप में 49 किलोग्राम भार वर्ग में स्वर्ण पदक जीता। इस इवेंट में उन्होंने 194 किलोग्राम भार उठाकर स्वर्ण पदक अपने नाम किया।

साईखोम मीराबाई चानू के बारे में:

  • साईखोम मीराबाई चानू एक भारतोलक हैं।
  • उनका जन्म 8 अगस्त, 1994 को मणिपुर के इम्फाल पूर्व में हुआ था।
  • 2014 राष्ट्रमंडल खेलों में उन्होंने 48 किलोग्राम भारवर्ग में रजत पदक जीता था।
  • जबकि 2018 के राष्ट्रमंडल खेलों में उन्होंने स्वर्ण पदक जीता था।
  • 2017 में उन्होंने विश्व भारतोलन चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीता था।
  • उनके बेहतरीन कार्य के लिए उन्हें पद्मश्री से भी सम्मानित किया जा चुका है।
  • 2018 में उन्हें राजीव गाँधी खेल रत्न सम्मान से सम्मानित किया गया था।

भारत के स्पिन गेंदबाज़, कुलदीप यादव बने अंतर्राष्ट्रीय मैचों में दो हैट्रिक लेने वाले पहले भारतीय गेंदबाज़।

भारत के स्पिन गेंदबाज़ कुलदीप यादव ने 18 दिसम्बर, 2019 को वेस्ट इंडीज के विरुद्ध खेले गये एकदिवसीय मैच में हैट्रिक ली, इसके साथ ही वे अंतर्राष्ट्रीय मैचों में दो बार हैट्रिक लेने वाले पहले भारतीय गेंदबाज़ बन गये हैं।
  • कुलदीप ने वेस्ट इंडीज के शाई होप, जेसन होल्डर और अल्जारी जोसफ को लगातार तीन गेंदों में आउट किया।
  • एकदिवसीय क्रिकेट में सर्वाधिक हैट्रिक लेने का रिकॉर्ड श्रीलंका के लसिथ मलिंगा के नाम है, उन्होंने एकदिवसीय क्रिकेट में तीन हैट्रिक ली हैं।
  • जबकि वसीम अकरम, सक़लैन मुश्ताक, चामिंडा वास और ट्रेंट बोल्ट ने अंतर्राष्ट्रीय एकदिवसीय क्रिकेट में दो-दो हैट्रिक ली हैं।

कुलदीप यादव के बारे में:

  • कुलदीप यादव भारत के स्पिन गेंदबाज़ हैं, वे चाइनामैन तकनीक से गेंदबाजी करते हैं।
  • उनका जन्म 14 दिसम्बर, 1994 को उत्तर प्रदेश के कानपूर में हुआ था।
  • वे घरेलु क्रिकेट में उत्तर प्रदेश के लिए खेलते हैं।
  • आईपीएल में वे कोलकाता नाईट राइडर्स की ओर से खेलते हैं।

फिक्की इंडिया स्पोर्ट्स अवार्ड 2019 जारी किये गये।

हाल ही में नई दिल्ली में फिक्की इंडिया स्पोर्ट्स अवार्ड 2019 जारी किये गये। यह पुरस्कार फिक्की (Federation of Indian Chambers of Commerce & Industry) द्वारा वर्ष भर बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों को दिया गया था।

विजेताओं की सूची:

  • स्पोर्ट्स पर्सन ऑफ़ द ईयर : रानी रामपाल (भारतीय महिला हॉकी टीम की कप्तान), सौरभ चौधरी (पिस्टल शूटर)
  • सर्वश्रेष्ठ राष्ट्रीय खेल संघ : भारतीय राष्ट्रीय राइफल संघ
  • खेल को बढ़ावा देने वाली सर्वश्रेष्ठ कंपनी (सार्वजनिक सेक्टर) : रेलवे खेल संवर्धन बोर्ड
  • सर्वश्रेष्ठ पैरा-एथलीट : संदीप चौधरी (जेवलिन)
  • ब्रेकथ्रू स्पोर्ट्स पर्सन : अमित पंघाल (बॉक्सिंग)
  • लाइफटाइम अचीवमेंट (प्रशासक) :गोविन्दराज केम्पारेड्डी
  • लाइफटाइम अचीवमेंट : पंकज अडवाणी
  • खेल को बढ़ावा देने वाले सर्वश्रेष्ठ राज्य : ओडिशा
  • सर्वश्रेष्ठ खेल पत्रकार : कामेश श्रीनिवासन

Important Days

20 दिसम्बर को अन्तर्राष्ट्रीय मानव एकता दिवस (International Day of Human Solidarity) मनाया गया।

प्रतिवर्ष 20 दिसम्बर को अन्तर्राष्ट्रीय मानव एकता दिवस (International Day of Human Solidarity) के रूप में मनाया जाता है। इस दिवस के लिए संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 22 दिसम्बर, 2005 को 60/209 प्रस्ताव पारित किया था।

उद्देश्य:

  • इस दिवस को विविधता में एकता के सम्मान में मनाया जाता है।
  • इस दिवस के द्वारा विभिन्न सरकारों को अन्तर्राष्ट्रीय समझौतों का सम्मान करने के लिए स्मरण करवाया जाता है।
  • इस दिवस के द्वारा एकता के बारे में जागरूकता फैलाने का प्रयास किया जाता है।
  • इस दिवस पर सतत विकास लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए एकता को बढ़ावा दिया जाता है।
  • इस दिवस का उद्देश्य निर्धनता उन्मूलन के लिए नई पहल शुरू करना है।

18 दिसम्बर को अन्तर्राष्ट्रीय प्रवासी दिवस (International Migrant Day) के रूप में मनाया गया।

प्रतिवर्ष 18 दिसम्बर को अन्तर्राष्ट्रीय प्रवासी दिवस (International Migrant Day) के रूप में मनाया जाता है। इसकी स्थापना संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 4 दिसम्बर 2000 को प्रस्ताव 55/93 को पारित करके की थी।

मुख्य तथ्य:

  • इसका उद्देश्य प्रवासियों के अधिकारों की सुरक्षा सुनिश्चित करना है।
  • हाल ही में संयुक्त राष्ट्र संघ ने अंतर्राष्ट्रीय प्रवास की चुनौतियों का सामना करने, प्रवासियों के अधिकारों को मजबूत करने और धारित विकास में योगदान के लिए वैश्विक समझौते का अंतिम प्रारूप तैयार किया है।
  • ऐसा पहली बार हुआ है कि अंतर्राष्ट्रीय प्रवास के विभिन्न पहलुओं पर विचार विमर्श करने के लिए संयुक्त राष्ट्र के सदस्य देश एकत्रित हैं।
  • यह ऐसा पहला समझौता है जिसमे अंतर्राष्ट्रीय प्रवास से सम्बंधित सभी पहलुओं पर सभी देशों ने चर्चा करके हामी भरी है।

पृष्ठभूमि:

  • वर्तमान में विश्व भर में लगभग 25 करोड़ से अधिक प्रवासी हैं, वे विश्व की कुल जनसँख्या का 3% हिस्सा हैं।
  • परन्तु वैश्विक सकल घरेलु उत्पाद में उनका योगदान 10% है। इससे उनके मूल देश के विकास में भी काफी वृद्धि होती है।
  • इस समझौते की शुरुआत 2017 में ही शुरू हो गयी थी जब संयुक्त राष्ट्र के सदस्य देशों ने ‘New York Declaration for Refugees and Migrants’ पर सहमती प्रकट की थी।

11 दिसम्बर को अंतर्राष्ट्रीय पर्वत दिवस (International Mountains Day) मनाया गया।

प्रतिवर्ष 11 दिसम्बर को अंतर्राष्ट्रीय पर्वत दिवस (International Mountains Day) के रूप में मनाया जाता है। इस दिवस की स्थापना संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 2003 में प्रस्ताव पारित करके की थी। इसका उद्देश्य अंतर्राष्ट्रीय समुदाय को पर्वत के संरक्षण के लिए प्रेरित करना तथा पर्वतों के महत्व को रेखांकित करने के लिए विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन करना है।

प्रमुख बिंदु:

  • इस वर्ष अंतर्राष्ट्रीय पर्वत दिवस की थीम “Mountains Matter for Youth” है।
  • इस दिवस के लिए संयुक्त राष्ट्र खाद्य व कृषि संगठन द्वारा समन्वय किया जाता है।
  • इस दिवस पर पर्वतों के महत्व को दर्शाने के लिए विभिन्न किस्म के कार्यक्रम आयोजित किये जाते हैं।
  • FAO के अनुसार पर्वत ताज़े पानी का एक महत्वपूर्ण स्त्रोत है, इनसे विश्व के कुल 60-80% ताज़े पानी की आपूर्ति होती है।
  • यह जैव विविधता के लिए भी अति आवश्यक है। विश्व भर में पर्वतीय क्षेत्रों लगभग 1 अरब लोग निवास करते हैं।
  • लगभग आधा अरब लोग जल, भोजन तथा स्वच्छ उर्जा के लिए पर्वतों पर निर्भर हैं।
  • पिछले कुछ समय में जलवायु परिवर्तन, भू-क्षरण, अत्याधिक शोषण तथा प्राकृतिक आपदाओं के कारण पर्वतों को नुकसान हो रहा है।

5 दिसम्बर को विश्व मृदा दिवस (World Soil Day) के रूप में मनाया गया।

प्रतिवर्ष 5 दिसम्बर को विश्व मृदा दिवस (World Soil Day) के रूप में मनाया जाता है, इस दिवस को खाद्य व कृषि संगठन द्वारा मनाया जाता है। इस वर्ष विश्व मृदा दिवस की थीम “मृदा प्रदूषण रोको” है।

मुख्य तथ्य:

  • संयुक्त राष्ट्र के अनुसार विश्व की कुल एक तिहाई मृदा का क्षरण हो चुका है।
  • मृदा के गुणवत्ता को प्रभावित करने वाला एक प्रमुख कारक मृदा प्रदूषण भी है।
  • मृदा प्रदूषण का खाद्यान्न, जल तथा वायु पर भी बुरा प्रभाव पड़ता है, जो प्रत्यक्ष रूप से स्वास्थ्य को प्रभावित करता है।
  • मृदा प्रदूषण का प्रमुख कारण औद्योगिक प्रदूषण तथा ख़राब मृदा प्रबंधन है।

खाद्य व कृषि संगठन (FAO) के बारे में:

  • यह एक संयुक्त राष्ट्र की संस्था है, यह संयुक्त राष्ट्र आर्थिक व सामजिक परिषद् के अधीन कार्य करती है।
  • इसकी स्थापना 16 अक्टूबर, 1945 को की गयी थी।
  • इसका मुख्यालय इटली के रोम में स्थित है।
  • वर्तमान में इसके कुल 194 सदस्य हैं।

Obituary

कुशल पंजाबी की अचानक मौत से सभी सदमे में हैं।

27 दिसंबर 2019 को पॉपुलर एक्टर कुशल पंजाबी का निधन हो गया है। उनकी उम्र 37 साल थी। कुशल की अचानक मौत से सभी सदमे में हैं। सोशल मीडिया पर उनकी मौत पर शोक व्यक्त किया जा रहा है।
  • उनकी उम्र महज़ 37 साल थी।
  • कुशल ने खुदकुशी की है। घर में उनका शव लटका मिला।
  • उन्होंने ऐसा क्यों किया इसे लेकर कोई जानकारी सामने नहीं आई है।
  • उन्होंने एक यूरोपियन लड़की से शादी की। उनका एक बेटा भी है। जिसका जन्म 2016 में हुआ था।
  • कुशल आखिरी बार सीरियल इश्क में मरजावां में नजर आए थे।
  • वे कई बड़ी फिल्में और टीवी शोज भी कर चुके हैं।

हिंदी के प्रसिद्ध साहित्यकार गंगा प्रसाद विमल का निधन हो गया।

हिंदी के प्रसिद्ध साहित्यकार गंगा प्रसाद विमल का 23 दिसंबर 2019 को श्रीलंका में एक सड़क दुर्घटना में निधन हो गया। वे 80 वर्ष के थे। गंगा प्रसाद विमल अपनी बेटी और पोती के साथ यात्रा कर रहे थे जो उसी सड़क दुर्घटना में मारे गए।

गंगा प्रसाद विमल के बारे में:

  • गंगा प्रसाद हिंदी के जाने माने लेखक, अनुवादक और जवाहरलाल नेहरू विश्विद्यालय के पूर्व प्रोफेसर थे।
  • गंगा प्रसाद विमल का जन्म उत्तराखंड के उत्तरकाशी में साल 1939 में हुआ था।
  • वे केंद्रीय हिंदी निदेशालय के निदेशक भी रह चुके थे। वे ओस्मानिया विश्विद्यालय और जेएनयू में शिक्षक भी रहे थे। वे दिल्ली विश्विद्यालय के जाकिर हुसैन कॉलेज से भी जुड़े थे।
  • उन्हें हिंदी साहित्य जगत में ‘अकहानी आंदोलन’ के जनक के रूप में जाना जाता था।
  • वे पंजाब विश्विद्यालय से साल 1965 में पीएचडी किये थे। वे कवि, कहानीकार, उपन्यासकार और अनुवादक भी थे।
  • उन्होंने 12 से अधिक लघु कहानी संग्रह, उपन्यास और कविता संग्रह लिखे हैं।

प्रसिद्ध ‘नट’ सम्राट और अभिनेता श्रीराम लागू का निधन हो गया।

प्रसिद्ध अभिनेता श्रीराम लागू का 17 दिसंबर 2019 को पुणे में निधन हो गया। वे 92 वर्ष के थे। वे पिछले कुछ समय से बीमार थे। उन्हें मराठी थिएटर में तो 20वीं सदी के सबसे अच्छे कलाकारों में गिना जाता है।

श्रीराम लागू के बारे में:

  • श्रीराम लागू मराठी थिएटर के सबसे अच्छे कलाकार थे।
  • श्रीराम लागू का जन्म 16 नवंबर 1927 को सातारा में हुआ था।
  • वे हिन्दी फ़िल्मों के जाने-माने एक अभिनेता थे।
  • श्रीराम लागू ने अपने कैरियर में लगभग 100 से ज्यादा हिंदी फिल्में और 40 से ज्यादा मराठी फिल्मों में काम किये है।
  • उन्होंने 'आहट: एक अजीब कहानी', 'पिंजरा', 'मेरे साथ चल, 'सामना', 'दौलत' जैसी कई फिल्मों में अभिनय किया है।
  • वे सिनेमा के अतिरिक्त मराठी, हिंदी और गुजराती रंगमंच से भी जुड़े रहे. उन्होंने 20 से अधिक मराठी नाटकों का निर्देशन भी किया है।
  • वे पेशे से नाक, कान, गले के सर्जन थे। उन्होंने 42 साल की उम्र में अभिनय को अपना पेशा बना लिया था।
  • उनको साल 1978 में फिल्म ‘घरौंदा’ के लिए सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेता के फिल्मफेयर पुरस्कार से नवाजा जा चुका है।
  • उन्होंने मराठी थिएटर में मील का पत्थर कहा जाने वाला नाटक ‘नट’ सम्राट में जोरदार अभिनय किया था। इस नाटक को प्रसिद्ध लेखक कुसुमाग्र ने लिखा था। इस नाटक में उनके अभिनय को आज भी याद किया जाता है। उन्हें इस नाटक में अपने शानदार अभिनय के बाद ‘नट सम्राट’ कहा जाने लगा था।