Current Affairs of November 2019 (करंट अफेयर्स नवंबर 2019)

Indian Affairs

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना (PM-KISAN) से 7 करोड़ से अधिक किसान लाभान्वित हुए।

More than 7 crore farmers benefitted from Pradhan Mantri Kisan Samman Nidhi Yojana (PM-KISAN): Central Government राज्यसभा में केन्द्रीय कृषि व किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने लिखित जवाब में कहा कि प्रधानमंत्री किसान सम्निमान धि योजना से अब तक देश भर में 7 करोड़ से अधिक किसान लाभान्वित हो चुके हैं। उत्तर प्रदेश से सर्वाधिक 1 करोड़ 67 लाख किसानों ने योजना का लाभ उठाया है।

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना (PM-KISAN)

  • केंद्र सरकार छोटे व सीमान्त किसानों को प्रतिवर्ष 6000 रुपये की वित्तीय सहायता देगी।
  • इस योजना से सरकार खजाने से 75,000 करोड़ रुपये व्यय किया जायेंगे।
  • इस योजना का उद्देश्य उन किसानों की सहायता करना है जिन्हें ख़राब मौसम अथवा कम कीमत के कारण नुकसान होता है।
  • यह 6000 रुपये की राशि 2000-2000 हज़ार की तीन किश्तों में सीधे किसानों के खातों में हस्तांतरित की जायेगी।
  • इस योजना का लाभ वे किसान ले सकते हैं, जिनके पास 2 हेक्टेयर से कम भूमि है।
  • इस योजना से लगभग 12 करोड़ किसान लाभान्वित होंगे।

योजना का विश्लेषण

इस योजना के तहत किसानों को प्रतिवर्ष 6000 रुपये दिए जायेंगे, यह राशि 500 रुपये प्रति माह होगी। नाबार्ड बैंक के ग्रामीण वित्तीय सर्वेक्षण 2015-16 में कृषि से किसान की औसत मासिक आय 3,140 रुपये थी। इस प्रकार 500 रुपये प्रति माह से किसान की मासिक आय में 16% की वृद्धि होगी।

अन्ततः अयोध्या राम मंदिर निर्माण के ऊपर आया सर्वोच्च न्यायालय का निर्णय।

Finally, the Supreme Court's decision came over the construction of Ayodhya Ram temple सर्वोच्च न्यायालय ने 5 एकड़ की विवादित भूमि पर राम मंदिर के निर्माण का मार्ग प्रशस्त कर दिया है। न्यायालय ने केंद्र सरकार को सुन्नी वक्फ बोर्ड को मस्जिद के निर्माण के लिए किसी अन्य स्थान पर पांच एकड़ भूमि प्रदान करने का आदेश दिया है। यह निर्णय भारत के मुख्य न्यायधीश जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता में पांच न्यायाधीशों वाली पीठ ने सुनाया। इस पीठ में जस्टिस अशोक भूषण, एस.ए. बोबड़े, डी. वाई. चंद्रचूड़ तथा एस. अब्दुल नजीर शामिल है। इस फैसले का समर्थन पाँचों न्यायधीशों ने किया है।

अयोध्या भूमि विवाद की टाइमलाइन

  • 1885 : महंत रघुबर दास ने अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के लिए प्रथम मुकद्दमा दायर किया।
  • 1949 : बाबरी मस्जिद के अन्दर भगवान् श्री राम की मूर्तियाँ पायी गयीं।
  • 1950 से 1950 के बीच हिन्दू तथा मुस्लिम संगठनों ने 5 अन्य मुकद्दमे दायर किये।
  • 1992 : दक्षिणपंथी कार्यकर्ताओं ने बाबरी मस्जिद को नष्ट किया।
  • 2010 : इलाहबाद उच्च न्यायालय ने विवादित भूमि को तीन पार्टियों – निर्मोही अखाड़ा, सुन्नी वक्फ बोर्ड तथा राम लल्ला में विभाजित किया था।

1 दिसम्बर तक FASTag निशुल्क दिए जायेंगे और इसके साथ ही 1 दिसम्बर से सभी वाहनों के लिए FASTag अनिवार्य भी होगा।

FASTag will be given free of charge by 1 December and with this FASTag will be mandatory for all vehicles from 1st December केन्द्रीय सड़क परिवहन व उच्चमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने हाल ही में कहा है कि 1 दिसम्बर, 2019 तक फास्टैग निशुल्क दिए जायेंगे। गौरतलब है कि 1 दिसम्बर के बाद बिना फ़ास्टैग वाले वाहनों को सामान्य से दोगुना टोल वसूला जाएगा।

FASTag क्या है?

FASTag इलेक्ट्रॉनिक टोल संग्रहण प्रणाली है, इसका संचालन राष्ट्रीय उच्चमार्ग प्राधिकरण (NHAI) द्वारा किया जा रहा है। FASTag के द्वारा टोल प्लाजा में रुके बिना ही व्यक्ति के खाते से टोल चार्ज अपने आप कट जायेगा, अब टोल कर अदा करने के लिए गाड़ी रोकने की ज़रुरत नहीं पड़ेगी। FASTag एक प्रीपेड अकाउंट से जुड़े हुए होते हैं, इसके द्वारा टोल प्लाजा से गुजरते हुए व्यक्ति के खाते से टोल अपने आप ही कट जायेगा। FASTag के लिए रेडियो-फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन टेक्नोलॉजी का उपयोग किया जा रहा है।

FASTag की विशेषताएं:
  • FASTag को ग्राहक अपनी पसंद के बैंक खाते से लिंक कर सकते हैं।
  • FASTag एप्प की सहायता से किसी भी FASTag को रिचार्ज किया जा सकता है।
  • बाद में FASTag का उपयोग पेट्रोल पंप पर इंधन को खरीदने के लिए भी किया जा सकता है।

रेडियो-फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन टेक्नोलॉजी (RFID)

  • रेडियो-फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन टेक्नोलॉजी इलेक्ट्रोमैग्नेटिक फील्ड का उपयोग करता है, यह उन टैग्स को डिटेक्ट करता है जिनमे इलेक्ट्रानिकली सूचना स्टोर की जाती है।
  • एक द्वि-मार्गीय रेडियो ट्रांसमीटर-रिसीवर टैग के लिए सिग्नल भेजता है तथा उसकी प्रतिक्रिया का अध्ययन करता है। RFID रीडर टैग के लिए एक एनकोडेड रेडियो सिग्नल भेजता है। टैग इस सिग्नल को रिसीव करता है तथा अपनी पहचान के साथ कुछ और सूचना को वापस भेजता है।

2021 की जनगणना 16 भाषाओँ में की जायेगी।

जनगणना 2021 का संचालन 16 भाषाओँ में किया जायेगा। जनगणना दो चरणों में की जायेगी : पहले चरण अप्रैल, 2020 से सितम्बर 2020 के बीच किया जाएगा, जबकि दूसरे चरण का आयोजन 9 फरवरी, 2021 से 28 फरवरी, 2021 के दौरान किया जायेगा।

रिपोर्ट के मुख्य बिंदु:
  • इस जनगणना में 31 लाख से अधिक प्रशिक्षित कर्मचारी हिस्सा लेंगे।
  • इस दौरान डाटा कलेक्शन एंड्राइड बेस्ड स्मार्टफ़ोन्स के द्वारा एकत्रित किया जाएगा।
  • जनगणना से सम्बंधित डाटा 2024-25 तक उपलब्ध हो जायेगा।

भारत में जनगणना

भारत में पहली बार जनगणना 1872 में की गयी थी, परन्तु देश की प्रथम पूर्ण जनगणना 1881 में की गयी। देश की अंतिम जनगणना 2011 में की गयी थी, यह 15वीं जनगणना थी। जनगणना से सम्बंधित कार्य Registrar General and Census Commissioner of India (under Union Home Ministry) द्वारा किया जाता है।

भारत में सड़क दुर्घटनाओं पर वार्षिक रिपोर्ट जारी की गयी।

Annual report on road accidents in India was released 20 नवम्बर, 2019 को केन्द्रीय सड़क परिवहन, तथा उच्चमार्ग मंत्रालय ने ‘Road Accidents in India, 2018’ नामक रिपोर्ट जारी की। इस रिपोर्ट के मुताबिक 2018 में भारत में सड़क दुर्घटनाओं के कारण 1,51,417 लोगों की मौत हुई। इन सड़क दुर्घटनाओं का मुख्य कारण सड़कों की स्थिति, मानवीय चूक तथा वाहनों की स्थिति है।

रिपोर्ट के मुख्य बिंदु:
  • इस रिपोर्ट के मुताबिक 2017 के मुकाबले सड़क दुर्घटनाओं में 2.4% की वृद्धि हुई है। देश में प्रत्येक घंटे में 53 सड़क दुर्घटनाएं होती हैं तथा हर घंटे औसतन 17 लोगों की जान सड़क दुर्घटना के कारण चली जाती है।
  • सड़क दुर्घटना में मारे गये 48% लोगों 18 से 35 आयु वर्ग के थे। सड़क दुर्घटना में मरने वाले 6.6% लोग नाबालिग थे।
  • सड़क दुर्घटनाओं के मामले में तमिलनाडु देश में पहले स्थान पर है। इस रिपोर्ट में कहा गया है कि कई राज्य मोटर वाहन संशोधन अधिनियम को ठीक प्रकार से क्रियान्वित करने में असफल रहे हैं।
  • वाहन चलाते समय मोबाइल फ़ोन के इस्तेमाल के कारण 2.4% मौते हुई हैं, जबकि शराब पीकर गाड़ी चलाने से 2.8% मौते हुई हैं। सड़क में रोंग साइड से गाडी चलाने के कारण 5.8% मौते हुई हैं। ओवर-स्पीडिंग के कारण 6.4% मौतें हुई हैं।

नीति आयोग ने पेश की स्वास्थ्य सुधार रिपोर्ट।

NITI Aayog presented health reform report for 2019 18 नवम्बर, 2019 को नीति आयोग ने ‘Health Systems for a New India: Building Blocks-Potential Pathways to reforms’ नामक रिपोर्ट जारी की, इस रिपोर्ट में भारत में मज़बूत स्वास्थ्य प्रणाली बनाने के लिए फ्रेमवर्क उपलब्ध करवाया गया है।

रिपोर्ट के मुख्य बिंदु: इस रिपोर्ट में 4 फोकस क्षेत्रों को चिन्हित किया गया हैं :
  • अधूरे सार्वजनिक स्वास्थ्य एजेंडा को पूरा करना
  • स्वास्थ्य पर होने वाले व्यय में बड़ी बीमा कंपनियों की हिस्सेदारी को बढ़ाना
  • डिजिटलीकरण के द्वारा स्वास्थ्य सेवाओं को एकीकृत करना
  • नागरिकों को सशक्त बनाना

रिपोर्ट की सिफारिशें
  • इस रिपोर्ट के अनुसार स्वास्थ्य पर लोगों की जेब से होने वाले खर्चे को कम करके इसे बीमा कंपनियों से हासिल करने के प्रयास अधिक किये जाने चाहिए। इससे लोगों की क्रय शक्ति बनी रहेगी, जिसका उपयोग वे किसी वस्तु अथवा सेवा के उपभोग के लिए कर सकते हैं।
  • इस रिपोर्ट में कर्नाटक की सुवर्ण आरोग्य सुरक्षा ट्रस्ट के कार्य की अनुशंसा की गयी है। इस ट्रस्ट ने आस-पड़ोस के राज्यों के अस्पतालों को भी एनरोल किया है।
  • इस रिपोर्ट में प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना का विस्तार पूरे देश में करने की अनुशंसा की गयी है।

GK & Current Affairs Quiz 2019 in English & Hindi

GK & Current Affairs Quiz 2019 in English & Hindi


Want to check your GK Score, then this App is for you!

More than 5000+ detailed question and answers

Latest Current Affairs - Download Now!

GK & Current Affairs Quiz 2019

International Affairs

इजरायली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू पर भ्रष्टाचार के मामले में आरोप तय।

Israeli Prime Minister Benjamin Netanyahu charged with corruption case इजरायली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू पर भ्रष्टाचार के कई मामले में आरोप तय हो गये हैं।

आरोप
  • बेंजामिन नेतन्याहू पर उनके मित्र शाल एलोविच (बेज़ेक टेलिकॉम कंपनी के मालिक) को 250 मिलियन डॉलर का लाभ पहुंचाने का आरोप है, इसके एवज़ में बेज़ेक की समाचार वेबसाइट ‘वाल्ला’ ने बेंजामिन नेतन्याहू तथा उनके परिवार के पक्ष में लेख लिखे।
  • तय किये गये आरोप में कहा गया है कि अरबपति अर्नोंन मिल्चन तथा जेम्स पैकर ने बेंजामिन नेतन्याहू को 2 लाख डॉलर (1.30 करोड़ रुपये) मूल्य की शैम्पेन तथा सिगार मुहैया करवाए।
  • इसके अलावा नेतन्याहू पर येदिओत अह्रोनोत नामक अखबार को लाभ पहुंचाने का आरोप है, बदले में अखबार ने नेतनयाहू के पक्ष में सकारात्मक कवरेज की है।

इजराइल

  • इजराइल पश्चिम एशिया में स्थित एक राष्ट्र है। इजराइल ने 14 मई, 1948 को स्वतंत्रता की घोषणा की थी।
  • इजराइल की राजधानी जेरूसलम (सीमित मान्यता) है। इसकी आधिकारिक भाषा हिब्रू है।
  • इजराइल का क्षेत्रफल लगभग 20,770 वर्ग किलोमीटर है।
  • इजराइल के उत्तर में लेबनान, उत्तर-पूर्व में सीरिया, पूर्व में जॉर्डन तथा दक्षिण पूर्व में मिस्र हैं।

BRICS शिखर सम्मेलन 2019 - 11वें ब्रिक्स शिखर सम्मेलन का विश्लेषण।

BRICS Summit 2019 - Analysis of 11th BRICS Summit प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 11वें ब्रिक्स शिखर सम्मेलन में हिस्सा लिया तथा ब्रिक्स देशों के बिज़नेस लीडर्स को भारत में निवेश करने के लिए आमंत्रित किया। ब्रिक्स शिखर सम्मेलन का आयोजन ब्राज़ील में किया गया। ब्रिक्स शिखर सम्मेलन 2019 की थीम ‘नवोन्मेषी भविष्य के लिए आर्थिक विकास’ है। इस शिखर सम्मेलन में ब्रिक्स देशों में आपसी सहयोग तथा आर्थिक विकास के मुद्दों पर चर्चा की गयी।

BRICS शिखर सम्मेलन के मुख्य बिंदु:
  • ब्रिक्स देशों ने आपसी भुगतान के लिए एक साझा क्रिप्टोकरेंसी के निर्माण पर चर्चा की। इस दौरान अमेरिकी डॉलर में भुगतान की हिस्सेदारी कम करने पर चर्चा की गयी।
  • प्रधानमंत्री मोदी ने भारत में प्रथम ब्रिक्स जल मंत्रियों की बैठक का प्रस्ताव रखा।
  • भारत ब्रिक्स डिजिटल स्वास्थ्य शिखर सम्मेलन का आयोजन करेगा। इस शिखर सम्मेलन में स्वस्थ जीवनचर्या के लिए नवोन्मेषी समाधानों पर फोकस किया जायेगा।
  • भारत ब्रिक्स युवा शिखर सम्मेलन का आयोजन भी करेगा, इसमें स्टार्टअप्स, हैकाथन तथा गेम्स पर फोकस किया जायेगा।

BRICS – Brazil, Russia, India, China & South Africa

  • ब्रिक्स तेज़ी से उभरती हुई विश्व की पांच बड़ी अर्थव्यवस्थाओं का समूह है, आरम्भ में इसमें ब्राज़ील, रूस, भारत और चीन शामिल थे।
  • 2010 में इस समूह में दक्षिण अफ्रीका को शामिल किया गया। 2018 में ब्रिक्स देशों का सकल घरेलु उत्पाद (GDP)18.6 ट्रिलियन डॉलर है, जो कि विश्व जीडीपी का 23.2% है।

ब्रिक्स बिज़नेस काउंसिल

ब्रिक्स बिज़नेस कौंसिल ने अगले शिखर सम्मेलन तक ब्रिक्स देशों के बीच 500 अरब डॉलर के व्यापार के लक्ष्य को हासिल करने के लिए रोडमैप तैयार किया गया। इस लक्ष्य की प्राप्त के लिए न्यू डेवलपमेंट बैंक तथा ब्रिक्स बिज़नेस काउंसिल के बीच समझौते पर हस्ताक्षर किये गये।

फ्रांस में किया गया द्वितीय पेरिस शांति फोरम का आयोजन।

Second Paris Peace Forum organized in France फ्रांस की राजधानी पेरिस में पेरिस शांति फोरम का आयोजन 11 से 13 नवम्बर, 2019 के दौरान किया गया। इस फोरम में वैश्विक मुद्दों के वैश्विक समाधान पर चर्चा की गयी। इस फोरम में 30 देशों के राष्ट्र प्रमुखों ने हिस्सा लिया। इस फोरम में भारत का प्रतिनिधित्व विदेश मंत्री एस. जयशंकर द्वारा किया गया।

पेरिस शांति फोरम
  • यह वैश्विक गवर्नेंस पर एक अंतर्राष्ट्रीय इवेंट है, इसका आयोजन फ्रांस की राजधानी पेरिस में किया जाता है।
  • इस सम्मेलन में विभिन्न देशों के राष्ट्राध्यक्ष, राष्ट्रीय व स्थानीय प्रतिनिधि तथा अंतर्राष्ट्रीय संगठनों के प्रतिनिधि हिस्सा लेते हैं।
  • इसमें वैश्विक मुद्दों पर विचार-विमर्श किया जाता है। इस फोरम में आर्थिक असमानता, जलवायु परिवर्तन, साइबर सुरक्षा तथा आतंकवाद जैसे मुद्दों पर चर्चा की गयी।
  • पेरिस शांति फोरम के पहले संस्करण का आयोजन 11 से 13 नवम्बर, 2018 के दौरान किया गया था।

ईरान में 53 अरब बैरल तेल के भंडार की खोज की गयी।

ईरान में 53 अरब बैरल तेल के भंडार की खोज की गयी है, यह खोज ईरान के खुजेस्तान प्रांत में की गयी है। हालांकि अभी तक तेल के उत्पादन के सन्दर्भ में किसी भी प्रकार की घोषणा नही की गयी है, परन्तु इस तेल भंडार की खोज से ईरान की अर्थव्यवस्था को तेज़ी मिलने के आसार जताए जा रहे हैं।

मुख्य बिंदु: यह तेल भंडार 2400 वर्ग किलोमीटर में फैला हुआ है, तेल के भंडार 80 मीटर तक की गहराई तक हैं। यह अहवाज़ के बाद ईरान का दूसरा सबसे बड़ा तेल क्षेत्र सिद्ध हो सकता है।

ईरान के तेल भंडार : वर्तमान में इरान में 155.6 अरब बैरल की क्षमता वाले कच्चे तेल के भंडार हैं। अमेरिकी उर्जा सूचना प्रशासन के मुताबिक कच्चे तेल के भंडार के मामले में ईरान विश्व में चौथे स्थान पर है जबकि प्राकृतिक गैस के भंडार के मामले में ईरान दूसरे स्थान पर है।

Business and Economy

भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 448.24 अरब डॉलर के सर्वोच्च स्तर पर पहुंचा।

India's foreign exchange reserves reached an all-time high of $ 448.24 billion 15 नवम्बर को समाप्त हुए सप्ताह के दौरान भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 441 मिलियन डॉलर की वृद्धि के साथ अपने सर्वोच्च स्तर 448.24 अरब डॉलर तक पहुँच गया है। विश्व में सर्वाधिक विदेशी मुद्रा भंडार वाले देशों की सूची में भारत 8वें स्थान पर है, इस सूची में चीन पहले स्थान पर है।

विदेशी मुद्रा भंडार

इसे फोरेक्स रिज़र्व या आरक्षित निधियों का भंडार भी कहा जाता है भुगतान संतुलन में विदेशी मुद्रा भंडारों को आरक्षित परिसंपत्तियाँ’ कहा जाता है तथा ये पूंजी खाते में होते हैं। ये किसी देश की अंतर्राष्ट्रीय निवेश स्थिति का एक महत्त्वपूर्ण भाग हैं। इसमें केवल विदेशी रुपये, विदेशी बैंकों की जमाओं, विदेशी ट्रेज़री बिल और अल्पकालिक अथवा दीर्घकालिक सरकारी परिसंपत्तियों को शामिल किया जाना चाहिये परन्तु इसमें विशेष आहरण अधिकारों , सोने के भंडारों और अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष की भंडार अवस्थितियों को शामिल किया जाता है। इसे आधिकारिक अंतर्राष्ट्रीय भंडार अथवा अंतर्राष्ट्रीय भंडार की संज्ञा देना अधिक उचित है।

15 नवम्बर, 2019 को विदेशी मुद्रा भंडार
  • विदेशी मुद्रा संपत्ति (एफसीए): $416.47 बिलियन
  • गोल्ड रिजर्व: $ 26.70 बिलियन
  • आईएमएफ के साथ एसडीआर: $ 1.43 बिलियन
  • आईएमएफ के साथ रिजर्व की स्थिति: $ 3.63बिलियन

मूड़ीज़ ने भारत की आर्थिक विकास की दर के अनुमान में कमी की।

Moody's lowered India's economic growth forecast अमेरिकी क्रेडिट रेटिंग एजेंसी कंपनी मूडीज़ ने भारत की आर्थिक विकास की दर के अनुमान में कमी की है। मूडीज़ ने चालू वित्त वर्ष के लिए भारत की जीडीपी वृद्धि दर के अनुमान में कमी करके इसे 5.6% किया है। हालाँकि वर्ष 2020 में जीडीपी विकास दर में वृद्धि होने के आसार जताए गये हैं, अगले वर्ष जीडीपी विकास दर 6.6% रहने का अनुमान है। वर्ष 2021 में जीडीपी विकास दर 6.7% रहने का अनुमान है।

मूडीज़

  • मूडीज़ इन्वेस्टर्स सर्विस मूडीज़ कारपोरेशन के अधीन एक अमेरिकी क्रेडिट रेटिंग एजेंसी है। इसकी स्थापना 1909 में की गयी थी।
  • यह एजेंसी सरकारी तथा वाणिज्यिक इकाइयों द्वारा जारी बांड्स पर वित्तीय अनुसन्धान का कार्य करते हैं।
  • स्टैण्डर्ड एंड पूअर्स तथा फिच ग्रुप के साथ मूडीज़ को विश्व की तीन सबसे बड़ी क्रेडिट रेटिंग एजेंसियों में से एक माना जाता है।

NEFT ट्रांजेक्शन पर जनवरी, 2020 से कोई शुल्क नहीं लगेगा।

जनवरी, 2020 से कोई भी बैंक NEFT ट्रांजेक्शन के लिए बचत खाता धारकों से शुल्क नहीं वसूल सकेगा। इसकी घोषणा आरबीआई द्वारा जारी एक प्रेस विज्ञप्ति में की गयी है। भारतीय रिज़र्व बैंक के इस निर्णय का उद्देश्य देश में डिजिटल लेनदेन को बढ़ावा देना है।

NEFT क्या है?

NEFT का पूर्ण स्वरुप National Electronic Funds Transfer है। यह एक इलेक्ट्रॉनिक फण्ड ट्रान्सफर सिस्टम है, इसे नवम्बर, 2005 में शुरू किया गया था। NEFT के द्वारा बैंक ग्राहक किसी दूसरे बैंक खाते में पैसे भेज सकते हैं।
  • NEFT धन हस्तांतरण का समायोजन हर आधे घंटे बाद करता है।
  • 11 जून को भारतीय रिज़र्व बैंक ने NEFT लेनदेन पर लगाए जाने वाले शुल्क को हटाने की घोषणा की थी, यह निर्णय 1 जुलाई, 2019 से लागू हो गया है।
  • इससे पहले NEFT से किये जाने वाले लेनदेन पर मामूली शुल्क लिया जाता था, 10,000 रुपये तक के लेनदेन पर 2.50 रुपये शुल्क लगता था, जबकि 10,000 से एक लाख रुपये तक के लेनदेन पर 5 रुपये का शुल्क लगता था।

Awards & Recognitions

फार्च्यून की बिज़नेस पर्सन ऑफ़ ईयर 2019 की सूची में सत्य नडेला पहले स्थान पर।

Satya Nadella in Fortune's Business Person of the Year 2019 list हाल ही में बिज़नेस पत्रिका फार्च्यून ने बिज़नेस पर्सन ऑफ़ ईयर 2019 की सूची जारी की, इस सूची में 20 सर्वश्रेष्ठ सीईओ को शामिल किया गया है। इस सूची में माइक्रोसॉफ्ट के भारतीय मूल के सीईओ सत्य नडेला पहले स्थान पर रहे हैं। दो अन्य भारतीय मूल के सीईओ अजय बंगा (मास्टरकार्ड) और जयश्री उलाल (एरिस्टा) आठवें और अठारवें रैंक पर हैं।

बिज़नेस पर्सन ऑफ़ ईयर 2019 – 5 सर्वश्रेष्ठ सीईओ

  1. सत्य नडेला (माइक्रोसॉफ्ट)
  2. एलिज़ाबेथ गेन्स (फोर्टेस्क्यू मेटल ग्रुप)
  3. ब्रायन निकोल (चिपोट्ल मेक्सिकल ग्रिल)
  4. मार्गरेट कीन (सिंक्रोनी फाइनेंशियल)
  5. ब्योर्न गुल्डन (प्यूमा)

Infosys Prize 2019 : 6 प्रोफेसरों को विज्ञान व शोध के लिए दिया गया पुरस्कार।

Infosys Prize 2019: 6 Professors Awarded for Science and Research इनफ़ोसिस विज्ञान फाउंडेशन ने 11वीं वर्षगाँठ के अवसर पर इनफ़ोसिस पुरस्कार 2019 की घोषणा की। यह पुरस्कार 6 भिन्न-भिन्न श्रेणियों में प्रदान किया जायेगा। इन 6 पुरस्कारों के लिए 244 प्रविष्टियों में से विजेताओं को चुना गया, यह चुनाव वैज्ञानिकों और प्रोफेसरों की 6 सदस्यीय जूरी द्वारा किया गया।

विजेताओं की सूची

इंजीनियरिंग व कंप्यूटर विज्ञान : सुनीता सरवागी

सुनीत सरवागी को डेटाबेस, डाटा माइनिंग, मशीन लर्निंग तथा नेचुरल लैंग्वेज प्रोसेसिंग में अनुसन्धान के लिए सम्मानित किया गया।

मानविकी : मनु एस. देवादेवन

प्रागैतिहासिक दक्षिण भारत पर विविध कार्य के लिए मनु वी. देवादेवन को सम्मानित किया गया।

जैव विज्ञान : मंजुला रेड्डी

मंजुला रेड्डी को बैक्टीरिया में कोशिका भीति के क्षेत्र में शोध के लिए सम्मानित किया गया।

गणित : सिद्धार्थ मिश्रा

सिद्धार्थ मिश्रा को एप्लाइड मैथमेटिक्स के क्षेत्र में योगदान के लिए सम्मानित किया गया।

भौतिक विज्ञान : मुगेश

मुगेश को नैनोमैटेरियल्स तथा सूक्ष्म मॉलिक्यूल के क्षेत्र में शोध के लिए सम्मानित किया गया।

सामाजिक विज्ञान : आनंद पांडियन

आनंद पांडियन को नैतिकता इत्यादि पर कार्य के लिए सम्मानित किया गया।

इनफ़ोसिस पुरस्कार : इनफ़ोसिस पुरस्कार एक वार्षिक पुरस्कार है, यह पुरस्कार अनुसंधानकर्ताओं, वैज्ञानिकों, सामाजिक वैज्ञानिकों और इंजिनियरों को प्रदान किया जाता है। यह पुरस्कार इनफ़ोसिस विज्ञान फाउंडेशन द्वारा दिया जाता है। यह पुरस्कार जैव विज्ञान, गणित, इंजीनियरिंग व कंप्यूटर विज्ञान, सामाजिक विज्ञान, भौतिक विज्ञान और मानविकी के क्षेत्र में दिया जाता है। प्रत्येक विजेता को 22 कैरट का स्वर्ण पदक, एक प्रशस्ति प्रमाण पत्र तथा 100000 (72 लाख रुपये) डॉलर इनामस्वरुप दिए जाते हैं। यह भारत में वैज्ञानिक शोध के क्षेत्र में सबसे अधिक धनराशी वाला पुरस्कार है।

Appointments & Resigns

लेफ्टिनेंट शिवांगी : भारतीय नौसेना की पहली महिला पायलट नौसैनिक ऑपरेशन में शामिल होंगी।

Lieutenant Shivangi: The first female pilot of the Indian Navy will be involved in naval operations लेफ्टिनेंट शिवांगी भारतीय नौसेना की पहली महिला पायलट हैं, वे शीघ्र की नौसेना के ऑपरेशन में शामिल हो जायेंगी। वे ऑपरेशनल प्रशिक्षण पूरा होने के बाद 2 दिसम्बर को नौसेना में शामिल हो जायेंगी। इसके साथ ही वे भारतीय नौसेना की पहली महिला पायलट बन जायेंगी। प्रशिक्षण के बाद उन्हें डोर्निएर एयरक्राफ्ट उड़ाने की अनुमति दी जायेगी।

लेफ्टिनेंट शिवांगी
  • लेफ्टिनेंट शिवांगी बिहार के मुजफ्फरपुर से हैं। उन्होने DAV पब्लिक स्कूल मुज़फ्फरपुर से स्कूली पढ़ाई की है।
  • उन्होंने भारतीय नौसेना में शार्ट सर्विस कमीशन में शामिल किया गया था।
  • उन्होंने वाईस एडमिरल ए.के. चावला द्वारा जून, 2019 में औपचारिक रूप से कमीशन किया गया था।
  • इससे पहले नौसेना में महिला अधिकारी एयर ट्रैफिक कण्ट्रोल अधिकारी तथा पर्यवेक्षक के रूप में कार्य करती थीं।

राजस्थान के 21 वर्षीय मयंक प्रताप सिंह बने भारत के सबसे युवा जज।

21-year-old Mayank Pratap Singh of Rajasthan becomes India's youngest judge जयपुर के मयंक प्रताप सिंह ने हाल ही में राजस्थान न्यायिक सेवा (RJS) परीक्षा पास की, वे 21 वर्ष की आयु में इस परीक्षा को पास करने वाले सबसे युवा व्यक्ति बन गये हैं। इस परीक्षा को पास करने के बाद अब वे देश के सबसे युवा जज बन जायेंगे।

मुख्य बिंदु:
  • गौरतलब है कि इससे पहले राजस्थान में न्यायिक सेवा परीक्षा के लिए न्यूनतम आयु 23 वर्ष थी, हाल ही में राजस्थान उच्च न्यायालय द्वारा इस आयु को कम करके 21 वर्ष किया गया था।
  • मयंक प्रताप सिंह राजस्थान के जयपुर के निवासी हैं। उन्होंने राजस्थान विश्वविद्यालय से LLB का कोर्स इस वर्ष अप्रैल में पूरा किया है।

जस्टिस शरद अरविंद बोबड़े को भारत के 47 वें मुख्य न्यायाधीश (CJI) के रूप में नियुक्त किया गया।

Justice Sharad Arvind Bobde was appointed as the 47th Chief Justice of India (CJI) जस्टिस शरद अरविंद बोबड़े (63) को भारत के 47 वें मुख्य न्यायाधीश (CJI) के रूप में नियुक्त किया गया। उनकी नियुक्ति के वारंट पर राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने भारत के संविधान के अनुच्छेद 124 के तहत हस्ताक्षर किए। वह रंजन गोगोई के पद से हटने के एक दिन बाद 18 नवंबर 2019 को भारतीय न्यायपालिका के अगले प्रमुख के रूप में शपथ लेंगे। उनका कार्यकाल कुल 17 महीनों का होगा और 23 अप्रैल 2021 तक रहेगा। वरिष्ठतम न्यायाधीश होने के नाते, उनके नाम की सिफारिश CJI गोगोई द्वारा स्थापित प्रक्रिया के अनुसार की गई थी।

जस्टिस शरद अरविंद बोबड़े के बारे में:
  • उनका जन्म 24 अप्रैल 1955 को नागौर महाराष्ट्र में हुआ था। उन्होंने नागौर विश्वविद्यालय में पढ़ाई की।
  • वह वकीलों के परिवार से आते हैं। उनके पिता अरविंद बोबड़े महाराष्ट्र के महाधिवक्ता थे और उनके बड़े भाई स्वर्गीय विनोद अरविंद बोबड़े सुप्रीम कोर्ट के प्रसिद्ध वरिष्ठ वकील थे।
  • उन्हें 1978 में बार काउंसिल ऑफ महाराष्ट्र के एक वकील के रूप में नामांकित किया गया था।
  • उन्होंने 21 साल से अधिक समय तक सुप्रीम कोर्ट और सुप्रीम कोर्ट से पहले बॉम्बे में छपी उपस्थिति के साथ बॉम्बे हाई कोर्ट की नागपुर बेंच में कानून का अभ्यास किया था।
  • उन्हें 1998 में वरिष्ठ अधिवक्ता के रूप में नामित किया गया था।
  • उन्हें मार्च 2000 में बॉम्बे हाई कोर्ट में एडिशनल जज के रूप में नियुक्त किया गया था।
  • उन्होंने अक्टूबर 2012 में मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश के रूप में शपथ ली थी।
  • उन्हें अप्रैल 2013 में सर्वोच्च न्यायालय के न्यायाधीश के रूप में पदोन्नत किया गया था।

Science and Technology

भारतीय वायुसेना को अब तक तीन राफेल लड़ाकू विमान मिल चुके हैं।

Indian Air Force has so far received three Rafale fighter jets: Minister of State for Defense Shripad Naik केन्द्रीय रक्षा राज्य मंत्री श्रीपद नाइक ने लोकसभा को सूचित करते हुए स्पष्ट किया कि अब तक भारतीय वायुसेना को तीन राफेल लड़ाकू विमान मिल चुके हैं। इनका उपयोग फ्रांस में पायलट तथा तकनीशियनों को प्रशिक्षण देने के लिए किया जा रहा है। भारत को फ्रांस से पहला राफेल लड़ाकू विमान 8 अक्टूबर को सौंपा गया था। इसके लिए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह फ्रांस गये थे, वहां पर उन्होंने राफेल के लिए शस्त्र पूजा की। 8 अक्टूबर को वायुसेना का स्थापना दिवस भी मनाया जाता है।

मुख्य बिंदु:
  • गौरतलब है कि छोटे-छोटे बैच में भारतीय पायलट्स को फ़्रांसिसी वायुसेना द्वारा प्रशिक्षण प्रदान किया गया है। मई, 2020 तक फ्रांस भारतीय वायुसेना के 24 पायलट्स को तीन बैच में प्रशिक्षण प्रदान करेगा। भारतीय वायुसेना राफेल के एक-एक स्क्वाड्रन को अम्बाला (हरियाणा) तथा हाशिमारा (पश्चिम बंगाल) के एयरबेस में तैनात करेगी। भारतीय वायुसेना ने इन दो एयरबेस में आवश्यक अधोसंरचना जैसे शेल्टर, हेंगर तथा मेंटेनेंस फैसिलिटी के लिए लगभग 400 करोड़ का व्यय किया है।
  • सितम्बर, 2016 में भारत ने फ़्रांसिसी सरकार तथा दसौल्ट एविएशन के साथ 36 राफेल लड़ाकू विमानों की खरीद के लिए 7.8 अरब यूरो के सौदे पर हस्ताक्षर किये थे। सौदे पर हस्ताक्षर किये जाने के 67 महीनों के भीतर भारत को सभी राफेल लड़ाकू विमानों की डिलीवरी कर दी जायेगी।

भारत ने पृथ्वी-2 मिसाइल का सफल परीक्षण किया।

India successfully test-fired the Prithvi-2 missile भारत ने स्वदेशी रूप से विकसित पृथ्वी-2 मिसाइल का सफल परीक्षण कर लिया है, यह परीक्षण रात्रिकाल में किया गया। यह मिसाइल परमाणु हथियार ले जाने में सक्षम है। यह परिक्षण ओडिशा के बालासोर जिले में मोबाइल लांचर से किये गये। यह पृथ्वी-2 मिसाइल का दूसरा रात्री परीक्षण था।

पृथ्वी-2 मिसाइल
  • यह सतह से सतह तक मार कर सकने वाली सामरिक मिसाइल है, इसकी मारक रेंज 350 किलोमीटर है। यह इंटीग्रेटेड गाइडेड मिसाइल विकास कार्यक्रम के तहत DRDO द्वारा विकसित की जाने वाली पहली स्वदेशी मिसाइल है।
  • यह मिशन 500 से लेकर 1000 किलोग्राम तक तक विस्फोटक ले जाने में सक्षम है।
  • इस मिसाइल में लिक्विड प्रोपल्शन वाले दो इंजन लगाए गये हैं। इसमें इनर्शिअल नेविगेशन सिस्टम का उपयोग किया गया है। इसे 2003 में रक्षा बलों द्वारा शामिल किया गया था।

भारत ने अग्नि II मिसाइल का सफल परीक्षण किया।

India successfully tests Agni II missile भारत ने अग्नि II मिसाइल का रात्री परीक्षण सफलतापूर्वक किया है। गौरतलब है कि यह प्रथम रात्री परीक्षण था। परमाणु हथियार ले जाने में सक्षम इस मिसाइल का परीक्षण ओडिशा तट के निकट अब्दुल कलाम द्वीप पर किया गया।

अग्नि II मिसाइल की विशेषताएं
  • इस मिसाइल का विकास रक्षा अनुसन्धान व विकास संगठन (DRDO) द्वारा किया गया है।
  • यह मिसाइल सतह से सतह तक मार करने में सक्षम है, यह मिसाइल परमाणु हथियार भी ले जा सकती है।
  • यह मिसाइल 2000 किलोमीटर की रेंज में अपने लक्ष्य को नष्ट कर सकती है।
  • इस मिसाइल का लांच भार 17 टन है, यह अपने साथ 1000 किलोग्राम का पेलोड ले जा सकती है।
  • इस मिसाइल की लम्बाई लगभग 20 मीटर है, यह दो चरणों वाली मिसाइल है।
  • यह एक IRBM (इंटीग्रेटेड रेंज बैलिस्टिक मिसाइल) है, इसे सशस्त्र बलों में शामिल किया जा चुका है।
अग्नि मिसाइल : अग्नि II मिसाइल अग्नि श्रृंखला का हिस्सा है, इसकी रेंज 2000 किलोमीटर है। अग्नि I की रेंज 700 किलोमीटर है, अग्नि III की रेंज 3000 किलोमीटर है। अग्नि II का प्रथम परीक्षण 1999 में किया गया था। 2010 में परमाणु हथियार ले जाने में सक्षम अग्नि II बैलिस्टिक मिसाइल का पहला सफल परीक्षण किया गया था।

इसरो कार्टोसेट-3, 27 नवम्बर को लांच करेगा।

ISRO will launch Cartoset-3 on 27th November भारतीय अन्तरिक्ष अनुसन्धान संगठन एक साथ 13 वाणिज्यिक उपग्रह लांच करेगा, इन उपग्रहों के साथ कार्टोसेट नामक इमेजिंग व मैपिंग उपग्रह को लांच किया जायेगा। यह लांच 27 नवम्बर, 2019 को होगा।

मुख्य बिंदु:
  • इन उपग्रहों को श्रीहरिकोटा से PSLV-C47 के द्वारा लांच किया जायेगा। यह 13 वाणिज्यिक उपग्रह लक्सेम्बर्ग बेस्ड स्पेस कंपनी क्लेओस के हैं। यह उपग्रह कंपनी के स्काउटिंग मिशन के उपग्रहों के समूह का हिस्सा हैं।
  • स्काउटिंग मिशन के डाटा का उपयोग समुद्री गतिविधि, निगरानी तथा इंटेलिजेंस से सम्बंधित कार्य के लिए किया जायेगा।
कार्टोसेट-3 : यह तीसरी पीढ़ी का पृथ्वी पर्यवेक्षण उपग्रह है, इसका निर्माण इसरो द्वारा किया गया है। यह इसरो द्वारा निर्मित सबसे एडवांस्ड इमेजिंग सैटेलाइट्स में से एक है। यह उपग्रह पृथ्वी के हाई रेजोल्यूशन चित्र लेने में सक्षम है। अब तक कुल 8 कार्टोसेट उपग्रह लांच किये जा चुके हैं।

चंद्रयान 3 : भारत नवम्बर 2020 तक चन्द्रमा पर दूसरी बार लैंडिंग का प्रयास करेगा।

Chandrayaan 3: India will attempt a second landing on the moon by November 2020 भारतीय अन्तरिक्ष अनुसन्धान संगठन ने नवम्बर 2020 तक चन्द्रमा की सतह पर सॉफ्ट लैंडिंग के प्रयास की घोषणा की है। हाल ही में इसरो का चंद्रयान-2 मिशन चंद्रमा की सतह पर सॉफ्ट लैंडिंग करने में नाकाम रहा था। सॉफ्ट लैंडिंग के समय इसरो का लैंडर विक्रम से सम्पर्क टूट गया था। हालांकि चंद्रयान-2 का ऑर्बिटर अभी भी अपना कार्य पूर्ण कुशलता के साथ कर रहा है और यह लगातार चन्द्रमा की हाई रेजोल्यूशन तस्वीरें इसरो को भेज रहा है।

चंद्रयान-2
  • चंद्रयान-2 भारत का चंद्रमा पर दूसरा मिशन था, यह भारत का अब तक का सबसे मुश्किल मिशन था। यह 2008 में लांच किये गए मिशन चंद्रयान का उन्नत संस्करण था। चंद्रयान मिशन ने केवल चन्द्रमा की परिक्रमा की थी, परन्तु चंद्रयान-2 मिशन में चंद्रमा की सतह पर एक रोवर भी उतारा जाना था।
  • इस मिशन के सभी हिस्से इसरो ने स्वदेश रूप से भारत में ही बनाये थे, इसमें ऑर्बिटर, लैंडर व रोवर शामिल थे। इस मिशन में इसरो पहली बार चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर लैंड रोवर को उतारने की कोशिश की। यह रोवर चंद्रमा की सतह पर भ्रमण करके चन्द्रमा की सतह के घटकों का विश्लेषण करने के लिए निर्मित किया गया था।
  • चंद्रयान-2 को GSLV Mk III से लांच किया गया था। यह इसरो का ऐसा पहला अंतर्ग्रहीय मिशन है, जिसमे इसरो ने किसी अन्य खगोलीय पिंड पर रोवर उतारने का प्रयास किया। इसरो के स्पेसक्राफ्ट (ऑर्बिटर) का वज़न 3,290 किलोग्राम था।

State News

PMGSY के तहत जम्मू-कश्मीर में किया गया सर्वाधिक सड़क निर्माण।

Most road construction work was done in Jammu and Kashmir under PMGSY वर्ष 2019 में प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत जम्मू-कश्मीर में सबसे ज्यादा सड़क का निर्माण हुआ है।

मुख्य बिंदु:
  • इस वर्ष जम्मू-कश्मीर में 11,400 किलोमीटर सड़क का निर्माण किया गया है जो कि देश में सर्वाधिक है।
  • इस वर्ष 1838 आवासीय क्षेत्रों को सड़क से जोड़ा गया है। इसके अलावा प्रधानमंत्री विकास कार्यक्रम के तहत जम्मू-कश्मीर के लिए केंद्र सरकार द्वारा 836.64 करोड़ रुपये प्रदान किये गये हैं।
प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना : प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना 25 दिसम्बर, 2000 को लॉन्च की गयी थी। इस योजना का उद्देश्य देश के उन क्षेत्रों को सड़क नेटवर्क से जोड़ना है, जहाँ पर मैदानी क्षेत्रों में जनसँख्या 500 तथा पहाड़ी क्षेत्रों में जनसख्या 250 या इससे अधिक हो। इस योजना के क्रियान्वयन के लिए केन्द्रीय ग्रामीण विकास मंत्रालय नोडल मंत्रालय है।

महाराष्ट्र में जारी राजनीतिक उठा-पटक के बीच सुप्रीम कोर्ट ने देवेन्द्र फड़नवीस को 27 नवम्बर को अपना बहुमत सिद्ध करने के लिए कहा है।

Devendra Fadnavis becomes the new Chief Minister of Maharashtra महाराष्ट्र में जारी राजनीतिक उठा-पटक के बीच सुप्रीम कोर्ट विपक्षी दलों (शिवसेना, राकांपा-कांग्रेस) की याचिका पर कोर्ट ने सोमवार को डेढ़ घंटे सभी पक्षों की दलीलें सुनने के बाद फैसला सुरक्षित रख लिया था। और मंगलवार सुबह 10:30 बजे फैसला सुनाया और कहा की देवेन्द्र फड़नवीस 27 नवम्बर की शाम पांच बजे को अपना बहुमत सिद्ध करें।

विपक्ष ने 24 घंटे में फ्लोर टेस्ट कराने की मांग की है। केंद्र की ओर से कहा गया कि फ्लोर टेस्ट सबसे बेहतर है, लेकिन यह जरूरी नहीं कि यह 24 घंटे में ही हो। इस पर राकांपा-कांग्रेस के वकील ने कहा कि जब दोनों पक्ष फ्लोर टेस्ट चाहते हैं तो इसमें देरी क्यों हो रही है? कोर्ट के निर्देश पर विपक्षी दलों को 154 विधायकों के हलफनामे वापस लेने पड़े थे।

जस्टिस एनवी रमना, जस्टिस अशोक भूषण और जस्टिस संजीव खन्ना की बेंच के सामने सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता (केंद्र), कपिल सिब्बल (शिवसेना), अभिषेक मनु सिंघवी (राकांपा-कांग्रेस), मुकुल रोहतगी (देवेंद्र फडणवीस), मनिंदर सिंह (अजित पवार) ने दलीलें पेश कीं।

इससे पहले, देवेन्द्र फड़नवीस ने महाराष्ट्र के नए मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ले ली है। जबकि एनसीपी के अजीत पवार महाराष्ट्र के उप-मुख्यमंत्री बन गये हैं। अजीत पवार एनसीपी प्रमुख शरद पवार के भतीजे हैं। काफी लम्बे विचार विमर्श के बाद एनसीपी ने भाजपा के साथ मिलकर सरकार बनाने का निर्णय लिया है।

पृष्ठभूमि
  • विधानसभा चुनावों में भारतीय जनता पार्टी को चुनाव में 105 सीटें प्राप्त हुई। भाजपा के सहयोगी दल शिवसेना को 56 सीटें प्राप्त हुई।
  • अतः महाराष्ट्र में भाजपा और शिवसेना के गठबंधन की सरकार बनने के आसार थे, परन्तु मुख्यमंत्री पद को लेकर दोनों दलों में सहमती नहीं बन सकी।
  • चुनावों में एनसीपी को 54 सीटें प्राप्त हुई हैं, जबकि भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस को 44 सीटें प्राप्त हुई हैं। एमएनएस को एक सीट प्राप्त हुई है, जबकि अन्य दलों को 28 सीटें प्राप्त हुई हैं।
  • महाराष्ट्र में विधानसभा की कुल 288 सीटें हैं, इसमें 234 सीटें सामान्य वर्ग, 29 सीटें अनुसूचित जाती तथा 25 सीटें अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित हैं।

लद्दाख के लिए विशेष विंटर ग्रेड इंधन लांच किया गया।

Special Winter Grade Fuel Launched for Ladakh इंडियन आयल कारपोरेशन ने लद्दाख के लिए विशेष विंटर ग्रेड डीजल लांच किया है। यह विंटर ग्रेड डीजल -33 डिग्री सेल्सियस तापमान पर भी नहीं जमेगा।

मुख्य बिंदु:
  • यह इंधन बीएस-VI के मानकों के अनुकूल है।
  • इसका निर्माण व प्रमाणीकरण पानीपत रिफाइनरी में हुआ है।
  • विंटर ग्रेड डीजल की आपूर्ति पंजाब के जालंधर से की जायेगी।
विंटर ग्रेड इंधन : आमतौर पर शीतकाल में तामपान ‘क्लाउड पॉइंट’ से नीचे पहुँचने पर डीजल जम जाता है। डीजल को जमने से रोकने के लिए इसमें कुछ एक एडिटिव मिलाये जाते हैं।

Environment

जम्मू कश्मीर की डल झील को पर्यावरण संवेदनशील क्षेत्र घोषित किया जायेगा।

Dal Lake in Jammu and Kashmir will be declared as an eco-sensitive area जम्मू-कश्मीर सरकार एक 10 सदस्यीय समिति की स्थापना करेगी जो डल झील को पर्यावरण संवेदनशील क्षेत्र (Eco-sensitive zone) घोषित करेगी। यह निर्णय ड्रेजिंग कारपोरेशन ऑफ़ इंडिया द्वारा किये गये अध्ययन के बाद लिया गया है।

अध्ययन के मुख्य बिंदु:
  • अध्ययन के अनुसार अतिक्रमण तथा प्रदूषण के कारण झील का आकार 22 वर्ग किलोमीटर के कम होकर मात्र 10 वर्ग किलोमीटर रह गया है।
  • इसकी क्षमता कम होकर 40% हो गयी है। बिना उपचार किये गये सीवेज जल तथा ठोस कचरे के झील में बहने से जल की गुणवत्ता भी काफी ख़राब हो गयी है।
  • झील में कचरा जैम जाने के कारण जल का संचरण भी सीमित हो गया है।
  • डीसिल्टिंग न होने के कारण कई स्थानों पर झील की गहराई में भी कमी आई है।

इंडियन आयल पानीपत में करेगा 2G एथेनॉल प्लांट की स्थापना।

हरियाणा के पानीपत में 2G एथेनॉल प्लांट की स्थापना के लिए पर्यावरण मंत्रालय ने इंडियन आयल कारपोरेशन को क्लीयरेंस दे दी है। इंडिया आयल इस प्लांट की स्थापना के लिए 766 करोड़ रुपये का निवेश करेगा।

भारत में एथेनॉल : भारत में 2003 में एथेनॉल को इंधन के रूप में उपयोग किये जाने की शुरुआत हुई। शुरू में E5 इंधन में 95% डीजल तथा 5% एथेनॉल मिलाया जाता था। 2006 में भारत ने E10 जैव इंधन का दूसरा चरण शुरू किया, इस चरण में 90% डीजल तथा 10% एथेनॉल तथा 90% डीजल मिलाया जाता है। भारत को अभी E15 औपचारिक रूप से लांच करना बाकी है। गौरतलब है कि कई देश E100 तक लांच कर चुके हैं।

राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन ने नई दिल्ली में ‘गंगा उत्सव’ का आयोजन किया।

राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन ने नई दिल्ली में ‘गंगा उत्सव’ का आयोजन किया। इस उत्सव का आयोजन गंगा को राष्ट्रीय नदी घोषित किये जाने की 11वीं वर्षगाँठ के अवसर पर किया गया। इस उत्सव का आयोजन केन्द्रीय जल शक्ति मंत्रालय के साथ मिलकर किया गया।

मुख्य बिंदु:
  • इस इवेंट का आयोजन गंगा तथा इसकी सहायक नदियों को स्वच्छ बनाने के लिए जागरूकता फैलाने के उद्देश्य से किया गया है। इसका आयोजन प्रतिवर्ष 4 नवम्बर को किया जाता है। इसी दिन वर्ष 2008 में गंगा नदी को देश की राष्ट्रीय नदी का दर्जा दिया गया था।
  • इस इवेंट में बड़ी संख्या में छात्रों ने भी हिस्सा लिया। इसमें नदी संरक्षण के तरीकों के बारे में छात्रों को अवगत करवाया गया।

Sports

लैशराम सरिता देवी को AIBA एथलीट आयोग का सदस्य चुना गया।

Lashram Sarita Devi elected as member of AIBA Athletes Commission भारतीय महिला मुक्केबाज़ लैशराम सरिता देवी को AIBA एथलीट आयोग का सदस्य चुना गया है। एथलीट आयोग में प्रत्येक महाद्वीप से एक-एक सदस्य चुना गया है, केवल यूरोप से दो सदस्य चुने गये हैं। इस आयोग में वे एशिया का प्रतिनिधित्व करेंगी।

मुख्य बिंदु:
  • लैशराम सरिता देवी का जन्म 1 मार्च, 1982 को मणिपुर में हुआ था।
  • वे वर्ष 2000 में प्रोफेशनल बॉक्सर बनी थीं।
  • उन्होंने एशियाई चैंपियनशिप में आठ पदक जीतें हैं, इसमें तीन स्वर्ण पदक भी शामिल हैं।
  • इससे पहले वे भारतीय मुक्केबाजी संघ में भी एथलीट प्रतिनिधि रह चुकी हैं।
  • उन्होंने 2009 में केंद्र सरकार द्वारा अर्जुन अवार्ड से सम्मानित किया गया था।
  • वे मणिपुर पुलिस में DSP के रूप में कार्यरत्त हैं।

दीपक चाहर ने टी-20 में सर्वश्रेष्ट गेंदबाजी का रिकॉर्ड बनाया।

Deepak Chahar set the best bowling record in T20 भारतीय गेंदबाज़ दीपक चाहर ने अंतर्राष्ट्रीय टी-20 में सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी का रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया है। भारत और बांग्लादेश के बीच अंतिम टी-20 मैच में दीपक चाहर ने 3.2 ओवरों में 7 रन देकर 6 विकेट हासिल किये। इसी मैच में दीपक चाहर ने शानदार हैट्रिक भी ली, वे अंतर्राष्ट्रीय टी-20 मैच में हैट्रिक लेने वाले पहले भारतीय पुरुष गेंदबाज़ हैं। यह अंतर्राष्ट्रीय टी-20 में किसी गेंदबाज़ का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है। इससे पहले टी-20 में सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी का रिकॉर्ड श्रीलंका के अजंता मेंडिस के नाम था। अजंता मेंडिस ने ज़िम्बाब्वे के विरुद्ध टी-20 मैच में 8 रन देकर 6 विकेट लिए थे।

मुख्य बिंदु:
  • दीपक चाहर का जन्म 7 अगस्त, 1992 को उत्तर प्रदेश के आगरा में हुआ था।
  • उन्होंने अपने एकदिवसीय करियर की शुरुआत 25 सितम्बर, 2018 को अफ़ग़ानिस्तान के विरुद्ध की थी।
  • दीपक चाहर ने अपने अंतर्राष्ट्रीय टी-20 करियर की शुरुआत 8 जुलाई, 2018 में इंग्लैंड के विरुद्ध की थी।
  • दीपक चाहर आईपीएल में चेन्नई सुपरकिंग्स के लिए खेलते हैं।

शेफाली वर्मा बनीं अंतर्राष्ट्रीय अर्धशतक लगाने वाली सबसे युवा भारतीय क्रिकेटर, तोड़ा सचिन तेंदुलकर का 3 दशक पुराना रिकॉर्ड।

Shefali Verma became the youngest Indian cricketer to score international half-century and broke the 3-decade-old record of Sachin Tendulkar भारत की युवा क्रिकेटर शेफाली वर्मा अंतर्राष्ट्रीय अर्धशतक लगाने वाली सबसे युवा भारतीय क्रिकेटर बन गयी हैं। उन्होंने मात्र 15 वर्ष की आयु में पहला अंतर्राष्ट्रीय अर्धशतक जड़ा। उन्होंने वेस्ट इंडीज के विरुद्ध टी-20 मैच में 73 रन बनाये। इसके साथ ही वे अर्धशतक बनाने वाले सबसे युवा भारतीय क्रिकेटर बन गयी हैं, उन्होंने सचिन तेंदुलकर का 30 वर्ष पुराना रिकॉर्ड तोडा है। शेफाली ने यह कारनामा 15 वर्ष तथा 285 दिन की आयु में किया,जबकि सचिन ने यह रिकॉर्ड 16 वर्ष तथा 214 दिन की आयु में बनाया था।

मुख्य बिंदु:
  • शेफाली वर्मा भारतीय महिला क्रिकेटर हैं, उनका जन्म 28 जनवरी, 2004 को हरियाणा में हुआ था।
  • वे भारत के लिए अंतर्राष्ट्रीय टी-20 मैच खेलने वाली सबसे युवा महिला खिलाड़ी हैं।

मनु भाकर ने एशियाई शूटिंग चैंपियनशिप 2019 (ISSF) क़तर, दोहा में स्वर्ण पदक जीता।

Manu Bhaker Wins Gold at Asian Shooting Championship 2019 (ISSF) Qatar, Doha भारत की युवा निशानेबाज़ मनु भाकर ने महिलाओं की 10 मीटर एयर पिस्टल इवेंट में स्वर्ण पदक जीता। दीपक कुमार ने पुरुषों की 10 मीटर एयर राइफल इवेंट में कांस्य पदक जीता। मनु भाकर, यशस्विनी सिंह देसवाल तथा अनु राज सिंह ने महिलाओं के 10 मीटर एयर पिस्टल टीम इवेंट में कांस्य पदक जीता। एलावेनिल वलारिवन, अंजुम मोदगिल और अपूर्वी चंदेला ने महिलाओं के 10 मीटर एयर राइफल टीम इवेंट में रजत पदक जीता।

मुख्य बिंदु:
  • मनु भाकर का जन्म 18 फरवरी, 2002 को हरियाणा के झज्जर जिले में गोरिया गाँव में हुआ था। वे एक निशानेबाज़ हैं।
  • उन्होंने 2018 विश्व कप में भारत के प्रतिनिधित्व किया था, इस प्रतियोगिता में उन्होंने दो स्वर्ण पदक जीते थे।
  • वे ISSF में स्वर्ण पदक जीतने वाली सबसे युवा भारतीय हैं।
  • इसके अतिरिक्त उन्होंने 2018 राष्ट्रमंडल खेलों में महिलाओं के 10 मीटर एयर पिस्टल इवेंट में स्वर्ण पदक जीता था।

Important Days

NCC की 71वीं वर्षगाँठ, 24 नवम्बर को मनाई गयी।

NCC celebrated its 71st Anniversary on 24th November प्रतिवर्ष नवम्बर को अंतिम रविवार को एनसीसी दिवस मनाया जाता है। इसकी स्थापना वर्ष 1948 में की गयी थी।

राष्ट्रीय कैडेट कोर (NCC)
  • राष्ट्रीय कैडेट कोर (NCC) भारतीय सैन्य कैडेट कोर है, इसका मुख्यालय नई दिल्ली में स्थित है। इसका आदर्श वाक्य “एकता और अनुशासन” है।
  • यह स्कूलों तथा विश्वविद्यालयों में स्वैच्छिक आधार पर खुला होता है। यह एक त्रि-सेवा संगठन है। इसमें थल सेना, वायु सेना तथा नौसेना देशों के युवाओं को देशभक्त तथा अनुशासित नागरिक बनाने के लिए मिलकर कार्य करती हैं।
  • इसमें देश भर के स्कूलों, महाविद्यालयों तथा विश्वविद्यालयों से छात्रों को स्वैच्छिक आधार पर भर्ती किया जाता है। उन कैडेट्स को आधारभूत सैन्य प्रशिक्षण प्रदान किया जाता है। कोर्स पूरा करने के बाद उन पर सक्रीय सैन्य सेवा देने की बाध्यता नहीं होती।
  • भारत में राष्ट्रीय कैडेट कोर की स्थापना 1948 के नेशनल कैडेट कोर अधिनियम के तहत की गयी थी।

विश्व मधुमेह दिवस, 14 नवम्बर को मनाया गया।

Worls Diabetics Day has been celebrated on 14th November विश्व मधुमेह दिवस प्रतिवर्ष 14 नवम्बर को मनाया जाता है, इसका उद्देश्य मधुमेह रोग के बारे में जागरूकता फैलाना है। इसका आयोजन अंतर्राष्ट्रीय मधुमेह संघ द्वारा किया जाता है।

मुख्य बिंदु:
  • विश्व मधुमेह दिवस को 1991 में अंतर्राष्ट्रीय मधुमेह संघ तथा विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा शुरू किया गया था।
  • विश्व भर में लगभग 415 मिलियन लोग मधुमेह से पीड़ित हैं अर्थात प्रत्येक 11 वयस्कों में से एक मधुमेह से पीड़ित है। 2040 तक मधुमेह से पीड़ित लोगों की संख्या बढ़कर 642 मिलियन होने की सम्भावना है।
  • मधुमेह वह अवस्था है जब शरीर ग्लूकोस को उपयोग करने में असफल रहता है। यह आमतौर पर इन्सुलिन नामक हार्मोन की कमी से होता है। टाइप-1 मधुमेह से पीड़ित रोगी को इन्सुलिन इंजेक्शन दिया जाता है।
  • टाइप-2 मधुमेह की रोकथाम काफी हद तक संभव है। मधुमेह अनुवांशिक भी हो सकती है, परन्तु इसका मुख्य कारण मोटापा, पर्याप्त पोषण प्राप्त न होना इत्यादि हैं।

बाल दिवस, 14 नवम्बर को मनाया गया।

भारत में 14 नवम्बर को बाल दिवस मनाया जाता है। 1964 से पहले भारत में 20 नवम्बर को बाल दिवस मनाया जाता है, यह सार्वभौमिक बाल दिवस संयुक्त राष्ट्र द्वारा निश्चित किया गया था। वर्ष 1964 में जवाहर लाल नेहरु की मृत्यु के बाद भारत में 14 नवम्बर को बाल दिवस के रूप में निश्चित किया गया।

मुख्य बिंदु:
  • जवाहर लाल नेहरु का जन्म 14 नवम्बर, 1889 को उत्तर प्रदेश इलाहबाद (अब प्रयागराज) में हुआ था। वे स्वतंत्र भारत के पहले प्रधानमंत्री थे।
  • वे 1947 से 27 मई, 1964 तक भारत के प्रधानमंत्री रहे। वे स्वतंत्रता सेनानी मोतीलाल नेहरु के पुत्र थे।
  • जवाहर लाल नेहरु को वर्ष 1955 में भारत रत्न से सम्मानित किया गया था।

गुरु नानक देव की 550वीं जयंती, 12 नवम्बर को मनाई गयी।

550th Birth Anniversary of Guru Nanak Dev was celebrated on 12th November 12 नवम्बर को देश भर के सिख समुदाय में गुरु नानक देव की जयंती मनाई गयी।

मुख्य बिंदु:
  • वे सिख धर्म के संस्थापक थे। वे सिख धर्म के पहले गुरु थे।
  • उनका जन्म पाकिस्तान के पंजाब में ननकाना साहिब में हुआ था।
  • उनकी शिक्षाओं का संकलन सिख धर्म की धार्मिक पुस्तक गुरु ग्रन्थ साहिब में किया गया है।
  • उनकी मृत्यु 22 सितम्बर, 1539 को पाकिस्तान के करतारपुर में हुई थी।

राष्ट्रीय शिक्षा दिवस, 11 नवम्बर को मनाया गया।

11 नवम्बर को भारत में राष्ट्रीय शिक्षा दिवस के रूप में मनाया जाता है। भारत में राष्ट्रीय शिक्षा दिवस देश के प्रथम शिक्षा मंत्री मौलाना अबुल कलाम आजाद की स्मृति में मनाया जाता है। राष्ट्रीय शिक्षा दिवस की स्थापना वर्ष 2008 में की गयी थी।

मुख्य बिंदु:
  • मौलाना अबुल कलाम आज़ाद स्वतंत्रत भारत के प्रथम शिक्षा मंत्री थे। वे 15 अगस्त, 1947 से 2 फरवरी, 1958 तक देश के शिक्षा मंत्री रहे।
  • मौलाना अबुल कलाम आजाद का जन्म 11 नवम्बर, 1888 को हुआ था। वे गांधीजी की विचारधारा से काफी प्रभावित थे।
  • उन्होंने असहयोग आन्दोलन, स्वदेशी आन्दोलन, धरसना सत्याग्रह तथा भारत छोड़ो आन्दोलन में हिस्सा लिया तथा देश की स्वतंत्रता के लिए सक्रीय होकर कार्य किया।

Obituary

जाने-माने गणितज्ञ वशिष्ठ नारायण सिंह का निधन 14 नवम्बर को हो गया।

Renowned mathematician Vasistha Narayan Singh passed away on 14th November जाने-माने गणितज्ञ वशिष्ठ नारायण सिंह का निधन हुआ, उन्हें भारत के आइंस्टीन के रूप में जाना जाता है। उनका निधन 14 नवम्बर को हुआ। उनका जन्म बिहार में हुआ था। वे पिछले 35 वर्षों से स्किज़ोफ्रेनिया से पीड़ित थे।

मुख्य बिंदु:
  • उनका जन्म बिहार के भोजपुर जिले में 2 अप्रैल, 1942 को हुआ था। 1965 में वे अमेरिका गये, वहां उन्होंने कैलिफ़ोर्निया विश्वविद्यालय से पीएचडी की।
  • बाद में उन्होंने वाशिंगटन यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर के रूप में कार्य किया। इसके बाद उन्होंने अमेरिकी अन्तरिक्ष एजेंसी नासा में भी कार्य किया।
  • 1971 में वे भारत लौटे और उन्होंने IIT कानपूर, IIT बॉम्बे तथा ISI कलकत्ता में कार्य किया।

पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त टी.एन. शेषन का निधन 10 नवम्बर को हो गया।

Former Chief Election Commissioner T.N. Seshan passed away on 10th November भारत के पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त टी.एन. शेषन का निधन 10 नवम्बर, 2019 को हुआ। वे 1990 से 1996 के बीच भारत के 10वें मुख्य चुनाव आयुक्त रहे।

मुख्य बिंदु:
  • टी.एन. शेषन का जन्म 15 दिसम्बर, 1932 को पलक्कड़ में हुआ था। उन्होंने 1954 में आईएएस की परीक्षा पास की तथा 1955 में वे तमिलनाडु कैडर में प्रशिक्षु के रूप में शामिल हुए। अपने करियर में उन्होंने विभिन्न पदों पर कार्य किया।
  • 1962 में उन्होंने मद्रास के परिवहन का निदेशक नियुक्त किया गया था। 1964 में उन्हें मदुरै जिले का कलेक्टर नियुक्त किया गया था।
  • 1969 में उन्हें परमाणु उर्जा आयोग का सचिव नियुक्त किया गया। 1972 से 1976 के बीच अन्तरिक्ष विभाग के संयुक्त सचिव रहे। 1988 में वे रक्षा मंत्रालय में सचिव बने।
  • 1989 वे देश के 18वें कैबिनेट सचिव ने। इसके बाद 12 दिसम्बर, 1990 से 11 दिसम्बर, 1996 तक वे देश के 10वें मुख्य चुनाव आयुक्त रहे।